अदरक के फायदे, इलाज और नुकसान - Benefits and side effects of Ginger in Hindi

अदरक

अदरक के फायदे और नुकसान इलाज उपयोग लाभ (Adrak ke fayde aur nuksan, Benefits and side effects of ginger in hindi): अदरक एक मूल है जो स्वस्थ के लिए बेहद गुणकारी है| इसे आप रोज़ाना आहार में शामिल करे तो बहुत सारी तकलीफो से दूर रहेंगे और अगर कोई स्वस्थ सम्बंधित परेशानी हो तो यह भी दूर हो जाती है| 

अदरक की जानकारी

अदरक एक मूल है जिसकी कई गांठ होती है और इसी अदरक मूल का उपयोग किया जाता है| कच्चा उपयोग होता है और सूखा सोंठ के रूप में उपयोग होता है|  यह है अदरक की जानकारी|
आयुर्वेद के अनुसार अदरक खाने में भले तेज और तीखा है मगर इस का पाचन रस मधुर है| यह गर्म तासीर का है, तीक्ष्ण है, भारी, भूख बढ़ाने वाला, पाचक, रुचिकारक, त्रिदोष हरने वाला और पित्त और कफ को नाश करने वाला औषध माना गया है| अदरक के स्वस्थ पर असर करने वाले गुण इस में रहे उड़नशील तेली पदार्थ गिंजरोल (gingerol) और ज़िंगरोने(zingerone) से मिलते है| अदरक कच्चा खाना उचित है इसे सूखा के सोंठ के रूप में भी उपयोग किया जाता है| यह ध्यान में रहे की सोंठ अतिशय गर्म होता है| तो आगे पढ़ते रहिये और जानिये अदरक के फायदे और नुकसान और कैसे अदरक का उपयोग किया जाए स्वस्थ के लिए|

अदरक के फायदे - Benefits of ginger in hindi

आगे पढ़ते रहिये और जानिये अदरक के फायदे अलग परिस्थिति में और कैसे उपयोग करे|

अदरक के लाभ कैंसर से बचने के लिए

अलग प्रकार के कैंसर से बचने के लिए हर रोज सवेरे अदरक का रस गर्म पानी में मिला के पीने की आदत डाले| यह भी पाया गया है की प्रारंभिक स्थिति में कैंसर हो तो अदरक से मिट जाने की सम्भावना होती है|

अदरक के औषधीय गुण

आहार में अदरक ले तो अदरक के औषधीय गुण यह है की रक्त साफ़ करता है विष को निकल देता है और दिल की धमनियों को मजबूत करता है| साथ में रक्तचाप नियंत्रण में रहता है|

अदरक पेट सम्बंधित तकलीफों को दूर करें

पेट में किसी प्रकार की गड़बड़ी हो, आंतो में तकलीफ है, पाचन ठीक से नहीं होता है और भूख कम लगती है तो इस का रामबाण इलाज है अदरक| हर रोज अदरक भोजन में लें या तो सवेरे अदरक का रस पीये शहद और निम्बू के रस के साथ| 

अदरक मधुमेह में इंसुलिन को नियंत्रित करे

मधुमेह में अदरक का रस का सेवन करे तो इस में रहे तत्त्व इन्सुलिन को अच्छी तरह से उपयोग करने में सहायक होते है और खून में शर्करा पदार्थ को काबू में रखते है|

अदरक के लाभ सर दर्द, जोड़ो का दर्द, गठिया में

इन सभी हालात में अदरक के औषधीय गुण अनेक है सूजन कम करने में, रक्त संचार बढ़ाने में और दर्द से राहत देने में| अदरक का सेवन करे और गठिया हो तो तेल में रस मिला के मालिश करे जोड़ो पर| 

अदरक श्वास सम्बंधित समस्याओं के उपचार में लाभकारी 

श्वसन तंत्र में नाक, गला और फेफड़े होते है और अक्सर मौसमी बदलाव या संक्रमण के कारण बलगम बढ़ जाता है, नाक बंद हो जाये या पानी बहना ऐसे हाल होते है और हल्का बुखार भी होता है तो ऐसे में अदरक और प्याज का सेवन करे काली मिर्च के साथ तो शरीर में से बलगम के साथ विष निकल जाता है और राहत महसूस होती है| कच्चा प्याज और कच्चा अदरक खाने के फायदे यह है की जल्दी से सब बलगम बाहर निकल जाती है|

अदरक के फायदे बालों के लिए - Adrak for hair growth in hindi 

अदरक में उड़नशील तेल के साथ है खनिज पदार्थ और विटामिन| कच्चा अदरक खाए आहार में तो बालो को पोषण मिलता है वृद्धि होती है और जल्दी से काले बाल सफ़ेद नहीं होंगे| अदरक का रस अगर बालो में लगाए तो इस में रहे तेज तत्वों से रुसी का नाश होता है और रक्त संचार बढ़ के बालो की वृद्धि होती है| अदरक को पीस ले और शहद और निम्बू के रस के साथ मिला के बालो के जड़ो में मालिश करे तो झड़ते बाल भी झड़ना बंद हो जायेंगे| पतले सूखे बाल भी मजबूत हो जायेंगे और बाल घने और मुलायम भी  होंगे| अदरक का रस निकालें और नारियल तेल में मिला के रात को बालो में लगाए यह अदरक के फायदे पाने के लिए| अदरक, लहसुन और प्याज मिला के पीसे, पानी मिलाये और थोड़ी देर रख के छान लें और यह पानी लगाए तो नए बाल उगने लगेंगे| 

अदरक और शहद के फायदे - Benefits of ginger and honey in hindi

आम तौर पर अदरक तीखा होता है तो कच्चा चबा के खाये तो जलन होती है और रस पीये तो पेट में जलन होगी|  इस का उपाय है अदरक और शहद का मिश्रण| दोनों को जोड़ने से अनेक फायदे है: 

  • सवेरे उठ के गर्म पानी में अदरक का रस और शहद मिला के पीये तो कब्ज़ दूर हो जाती है| एक चम्मच अदरक का रस और एक चम्मच शहद मिला के सेवन करे तो रक्तचाप नियंत्रण में आ जाता है| 
  • दमा से परेशान हो तो अदरक और शहद का सेवन करे काली मिर्च के साथ| 
  • खांसी हो तो अदरक का रस, शहद और यष्टिमधु मिला के चाटें| सर्दी, खांसी, जुखाम में अदरक और शहद का मिश्रण सेवन करे तो बहुत राहत मिलती है| 
  • गठिया के मरीज़ अदरक-शहद का सेवन करे तो इस तकलीफ में राहत पाएंगे| अदरक रस और शहद का मिश्रण में ऊँगली डुबो के चाटें तो दिल के मरीज़ को फायदा होता है|

अदरक के घरेलु इलाज - Adrak ke gharelu ilaj

पेट दर्द: पेट दर्द, गैस या अमल बढ़ जाये तो अदरक का उपयोग करे| लहसुन के साथ अदरक का रस निकल के पानी में मिला के पिए| अदरक और पुदीने के रस से वायु का नाश होता है और कब्ज़ दूर होती है और अगर तुलसी के पत्ते का रस मिला के पीये तो पेट का संक्रमण दूर हो जाता है| पाचन ठीक से न हो तो अदरक का रस, जीरा और अजवाइन को मिला के हींग और शहद मिला के सेवन करे|

आंतो की समस्या: आंत में सूजन है, वायु है दस्त हो जाता है तो अदरक, बहेड़ा, आमला और हरड़े का चूर्ण मिला के घी में तले हुए तिल के साथ मिला के लड्डू बना के खाये दिन में 2 बार| 

दांतो के लिए: अदरक का रस और सेंधा नमक से दांत घिसे तो दांतो का दर्द दूर होगा और मुँह की बदबू दूर हो जाती है| 

सर्दी, खांसी, बुखार: कुचला हुआ अदरक, निम्बू के टुकड़े, काली मिर्च और अजवाइन को उबालें और छान के शहद और काली मिर्च मिला के पीये| गला बैठ जाये तो अदरक, लौंग,  हींग और यष्टिमधु मिला के गुड़ के साथ गोली बना के चूसते रहे|

लकवा का असर: किसी भी कारण पक्षाघात हो जाये तो उड़द को घी में भुने, पीस,  गुड़ और सोंठ के साथ मिलाए दिन में तीन बार सेवन करे|

शरीर में दर्द: कमर में दर्द, पसली में दर्द, चोट लगने से दर्द र्इन सभी हालातो में अदरक का रस और नारियल तेल और सरसों तेल मिला के गर्म करे और मालिश करे| 
अजीर्ण, भूख की कमी, रक्त साफ़ करने के लिए: अदरक, चिरायता, गिलोय और नागरमोथ को मिला के पानी में उबालें और छान के दिन में तीन बार पिए |
मूत्र सम्बंधित: पेशाब ज्यादा और बार बार आता है तो दिन में दो बार अदरक का रस चीनी मिला के ले| पेशाब करते समय जलन होती है तो बाला मूल, गोखरू और कटेली की जड़ के साथ अदरक का रस मिलाये और फिर दूध में डाल के उबालें गुड़ के साथ और दिन में २ बार सेवन करे| अंडकोष की अतिशय वृद्धि हो गयी है तो अदरक का रस शहद में साथ मिला के दिन में 2 बार सेवन करे|
शरीर में सूजन: आंत में सूजन, वायु प्रकोप से और रक्त विकार से शरीर में सूजन के लिए अदरक का रस, जमालगोटा, चित्रक मूल, वावडिंगऔर पीपली को मिलाये और हरड़े चूर्ण के साथ पानी में मिला के सेवन करे|
पौरुष: काम इच्छा और काम की ताकत बढ़ाने के लिए हर रोज एक इंच जितना अदरक कच्चा खाये|
महिलाओ के लिए: गर्भवती महिला को मितली और उलटी आती है तो अदरक का रस का सेवन निम्न मात्रा में करे सवेरे और अपने हाथो पर भी रस लगा के सूंघते रहे| महावरी के समय दर्द को काम करने के लिए अदरक का रस पीये या तो अदरक तुलसी पुदीने की चाय बना के सेवन करें|
बहरापन: अदरक का रस निकालें और दो बूँद कानो में डालें तो बहरापन दूर हो जाता है| 
यह है अदरक के फायदे अलग परिस्थिति में| नियमित कच्चा अदरक खाने के फायदे यह है की आप इन सभी परिस्थिति को उत्पन्न होने से रोक सकते है और शरीर में स्वास्थ्य और ऊर्जा बढ़ेगी| 

अदरक के नुकसान - Adrak ke nuksan in hindi 

  • जिन लोगो की तासीर गर्म है वो अदरक न खाये ज्यादा नहीं तो खून बहने लगेगा दस्त के साथ|
  • पीलिया रक्तपित्त ज्वर के मरीज़ अदरक निम्न मात्रा में खाये|
  • 2 साल से छोटे बच्चो को अदरक का रस न दे और देना है तो एक दो बूँद ही दे|
  • गर्भवती महिलाए 1 ग्राम से ज्यादा अदरक न खाए गर्भपात से बचने के लिए|
  • खून पतला करने वाली दवाई लेते हो तो अदरक साथ में न ले|
  • ज्यादा अदरक खाये तो घाव में से खून का बहना जल्दी से बंद नहीं होगा|
  • जिस व्यक्ति को अदरक से एलर्जी है तो वह अदरक न खाए नहीं तो गंभीर लक्षण प्रकट होंगे| 
  • उच्च रक्तचाप की दवाई के साथ अदरक न ले|
  • गर्मियों में सोंठ का उपयोग बहुत कम मात्रा में करे या तो न करे सिर्फ सर्दियों में करे|

तो यह है अदरक के नुकसान| मगर ऐसा तब होता है जब अदरक का सही उपयोग न करे|  अदरक आहार भी है और औषध भी मगर सीमित मात्रा में नियमित खाए तो अदरक के फायदे अवश्य मिलते है और लम्बी उम्र तक शरीर निरोगी रहता है|

TAGS: #adrak ke fayde in hindi #adrak benefits in hindi #adrak for weight loss in urdu #adrak se ilaj #dry ginger benefits in urdu #benefits of adrak in urdu #benefits of ginger in hindi #adrak for hair growth #ginger adrak #adrak ke fayde for hair #adrak/ginger in hindi

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

0 Comments