घर में धन, समृद्धिऔर खुशहाली के वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Home in Hindi

घर में धन, समृद्धिऔर खुशहाली के वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Home in Hindi

वास्तु शास्त्र टिप्स के अनुसार घर (Vastu Tips for Home in Hindi, Saral vastu shastra tips in hindi) : प्राचीन भारत मे वास्तुशास्त्र का विज्ञान काफ़ी विकसित था| चाहे महल हो या किला, मंदिर हो या घर, सभी वास्तुशास्त्र के अनुसार स्थापित किए जाते थे| वास्तु क्या है और घर और जीवन मे वास्तु अपनाने मे क्या फायदा है? पढ़ते रहिए यह वास्तु टिप्स और सुखमई बनाए अपने घर का वातावरण और अपनी जिंदगी|

1. वास्तु क्या है – What is Vastu?
2. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर - Vastu Shastra Tips for Home in Hindi
3. वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर की दिशा - Vastu for Temple in Home in Hindi
4. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा - Vastu Shastra in Hindi for Home Map
5. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार - Vastu Shastra for Home Entrance in Hindi
6. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का निर्माण - Vastu Shastra for Home Construction in Hindi
7. बेडरूम में अपनाएं ये वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Bedroom in Hindi
8. वास्तु शास्त्र के अनुसार रसोई - Vastu Tips for Kitchen in Hindi
9. शौचालय के लिए वास्तु टिप्स - Vastu for Toilet in Hindi
10. ऑफिस के लिए वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Office in Hindi
11. रोज सुबह करें ये काम, दुर्भाग्य भी बदल जाएगा सौभाग्य में - Vastu Tips for Money And Goodluck in Hindi
12. धन बाधा दूर करने वाले वास्तु के टिप्स - Vastu Tips for Wealth in Hindi 
13. अच्छी सेहत के लिए वास्तु उपाय - Vastu Tips for Good Health in Hindi

वास्तु क्या है – What is Vastu?

श्रुष्टि मे हर एक चीज़ मे पाँच प्राकृतिक तत्त्व शामिल है, चाहे पृथ्वी पर हो या बाहर| यह पाँच तत्त्व है अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी और आकाश| प्राणियो मे और मनुष्य मे भी यह पाँच तत्त्व शामिल है जो पृथ्वी मे भी है| इन सभी तत्वो के बीच मे क्रिया होती रहती है और यह ज़रूरी है की मनुष्य और उस का घर श्रुष्टि मे पाए इन पाँच तत्वो के साथ पंकित हो या तो संरेखित हो तब जाके संतुलन बनता है और ऐसा वातवारण जो शांति और सुख प्रदान करे| वास्तुशास्त्र पृथ्वी की उर्जा, उजाले की उर्जा, वायु की उर्जा, अवकाश की उर्जा, ब्रह्मांड की उर्जा और चंद्रा और सूर्या की उर्जा पर भी आधारित है| इस वास्तुकला मे दिशा का भी महत्वपुर्ण स्थान है| वास्तु मे मेल होता है विज्ञान का, कला का, ज्योतिष् का और खगोल शास्त्र का| यह है थोड़ी सी जानकारी वास्तु शास्त्र (vastu shastra in Hindi) के बारे में | घर और उस मे रहने वाले व्यक्ति का संबंध कैसा है यह जानिए धन प्राप्ति के लिए वास्तु टिप्स (vastu tips in Hindi for home) मे जो आगे आप देखेंगे| 

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर - Vastu shastra tips for home in Hindi

ऐसे तो वास्तु शास्त्र के अनुसार जब घर बनाना चाहे तो सिर्फ़ उस की रचना ही नहीं बल्कि जगह और उस की दिशा और उस का ढलान का भी ख़याल किया जाता है| वास्तु के अनुसार कई नियम है घर की रचना के लिए जैसे की घर का मुख्य द्वार उत्तर या तो उत्तर पूर्व या पूर्व दिशा मे हो, रसोई घर साउथ-ईस्ट याने दक्षिण-पूर्व कोने मे हो, पूजा का कमरा उत्तर मे हो, पानी का संग्रहण, बाथरूम की जगह और सोने का कमरा सभी के निर्धारित जगह होते है| आजकल बहुत कम लोग प्लॉट खरीद के चाहे ऐसा घर बना सकते है इसीलिए वास्तु के अनुसार हो ऐसा संभव नहीं है| फिर भी, घर मे सही वास्तु के लिए यह जनरल वास्तु शस्त्र टिप्स फॉर होम ध्यान मे रखे: 

  • घर को सॉफ सुथरा रखे
  • बिना जरूरत की चीज़े घर मे ना रखे और घर के बाहर निकाल के फेंक दे|
  • दो दरवाजे के बीच मे कोई फर्नीचर या अड़चन ना रखे| 
  • खिड़कियो मे भी कोई अड़चन ना रखे जिस से प्रकाश और हवा आसानी से आ सके| 
  • घर के आजू बाजू का जगह भी स्वच्छ रखे| 
  • घर मे फर्निचर ज़्यादा ना रखे और हर एक कमरा खुल्ला और विशाल लगे ऐसे अंदर से सजाए| 
  • यह है जनरल वास्तु टिप्स इन हिन्दी फॉर होम | घर का पूरा वास्तु होता है और हर एक कमरे का भी वास्तु अलग होता है| पढ़ते रहिए आगे वास्तु टिप्स फॉर हाउस (vastu tips for house)|

वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर की दिशा - Vastu for temple in home in hindi

हर एक घर मे अलग से पूजा का कमरा नहीं हो सकता है मगर पूजा का स्थान तो अवश्य हो सकता है| अगर आप इतने भाग्यशाली है की एक अलग कमरा पूजा के लिए रख सके तो पूजा के कमरे के लिए वास्तु शास्त्र क्या कहता है यह जानिए| 

  • पूजा का कमरा या पूजा स्थान हमेशा उत्तरी-पूर्व दिशा मे हो तो सब से श्रेष्ट है मगर आप चाहे तो उत्तर की दिशा मे या तो पूर्व की दिशा मे रख सकते है| 
  • घर की दो या तीन मंज़िले हो तो बिल्कुल नीचे वाले मंज़िल पर मंदिर स्थापित करे| 
  • मंदिर कमरे के अंदर के पूर्व या पश्चिम भाग मे रखे और मूर्ति भी इन्ही जगह पर रखे| 
  • ध्यान रहे की मंदिर और मूर्ति दीवार से थोड़ी दूरी पर रखे| 
  • पूजा कमरे मे सफेद मार्बल हो तो उचित है और दिवारे भी सफेद, हल्के नीले या हल्के पीले रंग की रखे| 
  • दिया जलाए तो दिया का स्टैंड पूर्व दिशा मे रखे| 
  • अग्निकुण्ड रखे तो साउथ ईस्ट याने दक्षिण-पूर्वी कोने मे रखे| 
  • कमरे के अंदर जाने के दरवाजे पर चौखट बनाए| 
  • रसोई घर मे अगर मंदिर लगाए तो उत्तरी पूर्व दिशा मे रखे मंदिर को ताकि आप हमेशा पूजा के समय पूर्व दिशा मे हो| 

यह सरल वास्तु युक्ति आप आसानी से आजमा सकेंगे| आगे देखिए पुर घर का नक्शा वास्तु अनुसार|

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा - Vastu shastra in hindi for home map

घर का आकार चौरस या लंबा-चौरस होता है| वास्तु फॉर होम मे आगे जानिए दिशा और कमरे का संबंध: 

  • घर के बीच का स्थान ब्रह्मस्थान माना गया है जो हमेशा खुल्ला रहना चाहिए और यहा पर कोई चीज़ ना रखे| 
  • लिविंग रूम, टाय्लेट, रोकड़ रखने की जगह, डाइनिंग रूम और पूजा का कमरा हमेशा उत्तर की दिशा मे होते है वास्तु शस्त्र के अनुसार| इस मे पूजा का कमरा, पढ़ाई का कमरा और लिविंग रूम उत्तरी पूर्वा दिशा मे होना उचित है| 
  • पूर्व दिशा मे लिविंग रूम, डाइनिंग रूम, पूजा का कमरा, पढ़ाई का कमरा और मेहमानी के लिए बेडरूम होना उचित है| 
  • दक्षिण-पूर्वी कोने मे (साउथ -ईस्ट) मे रसोई घर होना चाहिए| यहाँ पर ऑफिस या अविवाहित पुत्र का बेडरूम भी हो सकता है| 
  • यही कमरे दक्षिण दिशा मे भी हो सकते है| 
  • दक्षिण मे टाय्लेट हो और घर की सीढ़िया हो| 
  • दक्षिण-पश्चिम कोने मे मास्टर बेडरूम होना चाहिये या तो तिजोरी वाला कमरा या तो सीढ़ी उपर जाने के लिए| 
  • पश्चिम दिशा उचित है टाय्लेट के लिए, डाइनिंग रूम, पूजा रूम, स्टडी रूम या सीढ़ी के लिए| 

आप को 400 वास्तु टिप्स या ज़्यादा मिलेंगे और आगे आप जानिए वास्तु शास्त्र फॉर होम एंट्रेन्स| 

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार - Vastu shastra for home entrance in hindi

घर का मुख्य द्वार पूर्व या उत्तरी पूर्व दिशा मे हो तो यह वास्तु अनुसार है मगर हमेशा यह मुमकिन नहीं है| इस के लिए वास्तु मे उपाय है और यह वास्तु रेमेडीस (vastu remedies) आप ध्यान मे रखे घर के मुख्य द्वार के लिए| 

  • घर के मुख्य द्वार सभी दरवाजे से बड़ा हो कद मे यह ध्यान मे रखे| 
  • मुख्य द्वार के दो भाग हो तो बेहतर है|
  • दरवाजा अच्छे किसम की लकड़ी से बनवाए| 
  • दरवाजा खुले या बंद हो तो कोई आवाज़ ना हो| 
  • द्वार पर चौखट आवश्य हो| 
  • दरवाजा को अलंकारित करे कोई डिज़ाइन से और आकर्षक बनाए| 
  • ज़मीन से थोड़ी उँचाई पर दरवाजा हो इस का ध्यान रखे| 
  • किसी भी कोने से एक फुट की दूरी पर घर का मुख्य द्वार बनाए|

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का निर्माण - Vastu Shastra for home construction in hindi

अगर आप अपना खुद का घर निर्माण करने का सोचते है तो यह वास्तु अनुसार हो इस के लिए यह वास्तु टिप्स फॉर हाउस कंस्ट्रक्शन ( Vastu tips for house construction) ध्यान मे रखे तो फायदा होगा: 

  • प्लॉट के बींच मे घर बनाए और चारो बाजू खुल्ली जगह रहे इस तरह से रचना करे घर का ताकि हवा और उजाला ठीक से घर मे प्रवेश करे| पूर्व की तरफ मुख्य द्वार रखे और इस दिशा मे ज़्यादा जगह रहने दे| दक्षिण, पश्चिम  और दक्षिण-पूर्वा कोने मे कम जगह रहे तो चलेगा| 
  • आग्नेय स्थान याने दक्षिण-पूर्व याने साउथ ईस्ट और व्याया याने नार्थ वेस्ट स्थान की जगह बराबरी की हो इस का ध्यान रखे| 
  • पेड़ हमेशा दक्षिण, पश्चिम और दक्षिण-पूर्व दिशा मे हो| उत्तर और पूर्व मे छोटे पौधे लगाए ताकि रोशनी आ सके| 
  • पश्चिम -दक्षिण की और की जगह पूर्व और उत्तरी-पूर्व जगह से उँचाई पर हो इस का ध्यान रखे| 
  • कम्पाउंड की दीवार बनाए तो उस का दरवाजा और घर का मुख्य दरवाजा एक दूसरे के आमने सामने न हो| 
  • निर्माण का काम शुरू करे तो पहले नीव का ईंट उत्तर या पूर्व दिशा में रखे| 
  • चौरस आकर का प्लॉट उत्तम है और लंबा चौरस उस के बाद मगर त्रिकोण आकर कभी उचित नहीं है वास्तु के द्रष्टि से| 

घर के निर्माण मे दीवार की मजबूती, कितने दरवाजे रखे और हर एक दीवार पर कहाँ रखे दरवाजे और खिड़की यह भी महत्वपुर्णा बाते है| घर के अंदर भी हर एक कमरे की स्थिति और उस के दरवाजे खिड़की का भी सही नियोजन करना होगा वास्तु नियम के अनुसार| खुद घर का निर्माण करते है तो बीच का स्थान हमेशा खुल्ला रहे ऐसा प्लान बनवाए|

बेडरूम में अपनाएं ये वास्तु टिप्स - Vastu tips for bedroom in hindi

शयन कमरे के लिए वास्तु मे नियम है जिन्हे हम वास्तु टिप्स फॉर बैडरूम कहते है जो ध्यान मे रखे तो शांति और सेहत बरकरार रहेंगे| 

  • मुख्य शयन कमरा (मास्टर बेडरूम) हमेशा घर के दक्षिण-पश्चिम दिशा मे स्थित हो क्योंकि यह जगह पृथ्वी स्थान है और आरामदायक है| यह कमरा अन्य शयन कमरे से बड़ा हो तो बेहतर होगा| 
  • कमरे मे पलंग कमरे के दक्षिण या पश्चिम दीवार से सटा रहे और व्यक्ति सोए तो उस का सर दक्षिण दिशा मे रखे या पश्चिम मे| इस कमरे मे सिर्फ़ शादी शुदा जोड़े रहे| 
  • कमरे के पश्चिम और उत्तर दिशा मे बाथरूम रखे और इस का दरवाजा बेड के बिल्कुल सामने ना हो और यह दरवाजा हमेशा बंद रखे| 
  • इस कमरे का द्वार पूर्व, उत्तर या पश्चिम दीवार मे हो| 
  • पूर्व और उत्तरी दीवारो मे खिड़की लगाए| 
  • कपबोर्ड्स  को दक्षिण-पश्चिम दिशा मे रखे| 
  • आईना ना रखे और अगर है तो सोते समय कोई भी अंग आईने मे ना दिखे| 
  • टीवी, कंप्यूटर और ऐसे यंत्रा दूरी पर रखे बेड से|
  • बच्चो के लिए शयन कमरा पश्चिम की और रखे| 
  • अविवाहित बच्चे या मेहमआनो के लिए कमरा रखे पूर्व भाग मे| 
  • घर के मध्य भाग मे बेडरूम ना बनाए|

वास्तु शास्त्र के अनुसार रसोई - Vastu tips for kitchen in Hindi 

रसोईघर को घर का दिल माना जा सकता है और यह सही दिशा मे स्थित होना चाहिया और रचना भी सही हो इस का ध्यान रखा जाए तो घर मे खुशिया होगी| यह है सरल वास्तु सुझाव रसोईघर के लिए वास्तु टिप्स फॉर किचन: 

  • रसोई घर किस दिशा में होनी चाहिए? इसका उत्तर है दक्षिणपूर्वी कोना अग्नि स्थान होता है इसीलिए यह दिशा याने साउथ -ईस्ट मे रसोई घर होनी चाहिए| यह जगह अगर आप चुन नहीं सकते है तो उत्तर-पश्चिम दिशा दूसरे दरवाजे पर है 
  • किचन वास्तु शास्त्र में खिड़की पूर्व बाजू हो यह ध्यान रखे|
  • रसोई घर मे उत्तर-पूर्व दिशा मे पानी के बर्तन और नाली रखे| यहाँ पर वॉश बेसिन भी रखे| 
  • दक्षिण पश्चिम दिशा मे एलेक्ट्रिक यंत्रा जैसे की रेफ्रिजरेटर और ओवेन रखे| 
  • गैस का सिलिंडर और चूल्हा दक्षिण-पूर्वी कोने मे रहे यह वास्तु का सुझाव है रसोईघर के लिए| 
  • रसोई घर का वास्तु करते समय ध्यान रखें ख़ान पान की सामग्री दक्षिण और पश्चिम बाजू होने चाहिए रसोई घर मे| 
  • रसोई घर से जुड़े कोई बाथरूम या टाय्लेट ना हो इस का वास्तु मे खास सुझाव है|
  • रसोई घर का प्रवेश द्वार उत्तर, पूर्व या पश्चिम मे हो| 
  • किचन का वास्तु करते समय टाइल्स की बात आई तो सिरेमिक, मोज़ेक टाइले या तो मार्बल लगाए| 
  • वास्तु के अनुसार घर का रंग होने से सुख समृद्धि आती है। वास्तु के अनुसार रसोई का रंग सबसे शुभ रंग सफ़ेद अथवा क्रीम माना जाता है अगर रसोई घर में वास्तु दोष है तो रसोई घर के आग्रेय कोण में लाल रंग का इस्तेमाल करना चाहिए|वास्तु के अनुसार रसोई घर मे पीला, गुलाबी, केसरी, लाल और ब्राउन रंग उचित है| 
  • दो मज़िलों का घर हो तो रसोई घर के उपर या नीचे टाय्लेट या बाथरूम ना हो और ना ही पूजा का कमरा हो|
  • जब रसोई करते हो तो चेहरा पश्चिम की तरफ ना रहे ऐसे रचना करे| पूर्व की और चेरा रहे वो उत्तम है| प्लेटफार्म जो है उसे पूर्व या तो दक्षिण-पूर्व कोने मे रखे और गैस का चूल्हा उस के उपर रखे| “एल” आकर मे प्लेटफार्म बनाए जिस का एक भाग दक्षिण दीवार से सटा हो जिस पर आधुनिक यंत्र रख सके| 
  • किचन वास्तुशास्त्र से जुड़ी हुई बाते ऐसे है की हमेशा रसोई घर बिल्कुल स्वच्छ रखे और ख़ान पान के पदार्थ रात भर खुला और मैले बर्तन खुले ना रखे| रात को सोने से पहले किचन मे बर्तन सॉफ करे और प्लेटफार्म बिल्कुल सॉफ करे| रसोई करने के पहले आग जलाए और थोडीसी हवा करे देवो को| 

शौचालय के लिए वास्तु टिप्स - Vastu for toilet in hindi

  • वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में शौचालय बनाने के लिए दक्षिण-पश्चिम और दक्षिण सबसे उत्तम स्थान दिशा है।
  • शौचालय का गटर घर के उत्तर या पश्चिम दिशा में बनाया जाना चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र के मुताबिक भवन के मध्य में, दक्षिण-पूर्व दिशा या उत्तर-पूर्व दिशा में शौचालय बनाना सही नही माना जाता है।
  • शौचालय या बाथरूम का दरवाजे और खिड़कियां दक्षिण दिशा को छोड़कर अन्य किसी भी दिशा में बनाना चाहिए।
  • वास्तुशास्त्र के अनुसार बेसिन ऐसे लगा होना चाहिए ताकि शौच के समय व्यक्ति का मुहं पूर्व दिशा की तरफ न हो।
  • शौचालय या बाथरूम में नल का स्थान उत्तर-पूर्व दिशा या पश्चिम दिशा में रखना सही माना जाता है।
  • घर में शौचालय या बाथरूम कभी भी सीढ़ियों के नीचे बनाना चाहिए।

ऑफिस के लिए वास्तु टिप्स - Vastu Tips for office in hindi

घर का वास्तु सही हो तो सब कुछ आनंद मंगल होगा| मगर आप दफ़्तर मे काम करते हो तो वहाँ का वास्तु भी सही हो तो और भी प्रगति होगी| आप खुद ऑफिस के मालिक है तो वास्तु अनुकूल बना सकते है ऑफिस को इन सुझाव द्वारा| 

  • दफ़्तर के फर्श का ढलान उत्तर से पूर्व की तरफ होना ज़रूरी है| 
  • उपरी अधिकारी को पश्चिम या दक्षिण मे बैठके अपना मुख पूर्व या उत्तर की और रखना होगा| 
  • दफ़्तर का प्रवेश द्वार उत्तर-पूर्व से हो इस का ध्यान रखे| 
  • मुलाकात के लिए जगह दफ़्तर के पूर्व या उत्तरी कोने मे हो| 
  • दफ़्तर का पैन्ट्री दक्षिण-पूर्व मे हो और टॉयलेट उत्तरी-पूर्व दिशा मे हो इस का ध्यान रखे| 
  • तिजोरी जिस मे रोकड़ रखते है उसे दक्षिण या पश्चिम तरफ रखे| 
  • कपबोर्ड्स हो तो यह सभी पश्चिम या दक्षिण की और रखे और उन का मुख उत्तर या पूर्व के तरफ रखे| 
  • यह उत्तम परिस्थिति तो सभी दफ़्तरो मे होना नामुमकिन है इसीलिए दफ़्तर मे फाउंटेन रखे या तो एक्वैरियम रखे तो काम करने वाले के लिए, मेहमानो के लिए और ऑफिस के लिए वातावरण शुभ हो जाएगा| 
  • जो कर्मचारी नेतृत्व के स्थान पर है उन्हे बीम के नीचे बैठना नहीं चाहिए| धंधे के मालिक का स्थान है दक्षिण-पश्चिम कोना और चेहरा उत्तर की तरफ; जनरल मैनेजर या मैनेजर का स्थान है दक्षिण और पश्चिम कोना और चेहरा पश्चिम उत्तर की और रखे; फाइनेंस मैनेजर को उत्तर कोने मे बैठना चाहिए और कर्मचारियों को ऐसे बिठाये की सेल्स के स्टाफ का चेहरा पूर्व या उत्तर की और रहे और अन्य कर्मचारियो को ऑफिस के पूर्व दिशा मे सेट करे| 
  • वास्तु का सुझाव है की घर की तरह दफ़्तर मे भी सफाई रखे, बिना जरूरी समान इकट्ठा ना करे और इस का ख़याल रखे की हवा आती-जाती है और उजाला ठीक से है| 
  • प्रवेश स्थान पर विंड चाइम आप चाहे तो लगाए तो मधुर आवाज़ फैलाएगा वातावरण में| 
  • घर मे ऑफिस बनाए तो भी इन मुद्दों का ख्याल रखे| 

रोज सुबह करें ये काम, दुर्भाग्य भी बदल जाएगा सौभाग्य में - Vastu tips for money and goodluck in hindi

उपर बताए टिप्स 400 वास्तु टिप्स मे से कई है अपने खुशहाली और तंदूरस्ती के लिए और अपने परिवार के खुशहाली और समृद्धि के लिए| अब थोड़े सुझाव जानिए धन संपत्ति और किस्मत के लिए: 

  • घर के कंपाउंड मे तुलसी का पौधा अवश्य रखे और हर रोज पानी चढ़ाए और मंतर पढ़े लक्ष्मी जी के और सूर्यादेव के| 
  • वास्तु टिप्स फॉर मनी मैटर् कंपाउंड मे एक अनार का पेड़ भी रखे धन दौलत बढ़ाने के लिए| 
  • वास्तु टिप्स फॉर मनी मैटर्स में अब जाने घरवाली अगर हर रोज सवेरे स्नान कर के तांबे के लोटे मे जल लेके मुख्य द्वार के आस पास इस से पानी छिड़के तो लक्ष्मी माता प्रसन्न हो के घर मे वास करेगी| घर की महिलाओ से संबंध मीठे मधुर रखे और वाद-विवाद ना करे| 
  • हर अमावस के दिन या उस के पहले बिना ज़रूरी चीज़ घर मे से फेंक दे| 
  • हर रोज सवेरे घर के मंदिर मे घी के दीपक जलाए और एक रोटी पहले गाय को खिलाए और भोजन के बाद एक रोटी कुत्ते को अवश्य दे तो भाग्य खुल जाता है| 
  • रात को घर मे सफाई ना करे| सवेरे ही करे| 
  • तिजोरी हमेशा घर के दक्षिण दिशा मे रखे और दरवाजा उत्तर की तरफ खुले इस का ध्यान रखे तो धन मे वृद्धि होती है| 
  • घर का मध्य भाग याने ब्रह्मस्थान हमेशा खाली और खुला रखे तो संपत्ति बढ़ेगी|
  • मुख्य द्वार के सामने पेड़ ना रखे ना ही सीढ़ी रखे| यह बाधक है| 
  • किस्मत के लिए मुख्य द्वार की दिशा अपने राशि अनुसार पसंद करे| मेश, सिंह, धनु राशि वाले के लिए पूर्व मे मुख्यद्वार हो; कर्क, वृस्चिक और मीन के लिए उत्तरी मुख्य द्वार; मिथुन, कुंभ और तुला के लिए पश्चिम वाला दरवाजा और मकर, कन्या और वृषभ के लिए दक्षिण मुख्य द्वार हो| 
  • घर के मुख्य दरवाजे के उपर श्री गणेशजी की तस्वीर रखे| 

इस के अलावा और भी सुझाव है जो आप 400 वास्तु टिप्स मे जान सकते है| 

धन बाधा दूर करने वाले वास्तु के ट‌िप्स - Vastu tips for wealth in hindi 

  • पैसे की तिजोरी या संदूक दक्षिण या दक्षिण-पश्चिम दीवार से सटाये ताकि उस का मुँह उत्तर की ओर खुले| तिजोरी या पैसे की संदूक किसी बीम के    नीचे ना रखे| संदूक के सामने आईना रखे|
  • घर के अंदर उत्तर-पूर्व दिशा को स्वच्छ और खुला रखे| यहाँ कोई समान ना रखे| यहा कोई सीढ़ी ना रखे| 
  • घर के उत्तरी-पूर्व दिशा के सामने कोई मंदिर या ऊँचा इमारत ना हो| 
  • घर का दक्षिण-पश्चिम भाग का हिस्सा उत्तरी-पूर्वी भाग से ऊँचा रखे| 
  • घर का दक्षिण और पश्चिम की दिवारे उत्तरी और पूर्वी दीवारो से तगड़ी रखे| 
  • पक्षियो के लिए दाने पानी का प्रबंध करे तो सुख समृद्धि बढ़ेगी
  • घर मे कोई जामुन रंग का पौधा रखे|

अच्छी सेहत के लिए वास्तु उपाय - Vastu tips for good health in hindi

जीवन भर स्वस्थ चाहते है तो यह स्वस्थ के लिए वास्तु रेमेडीस अपनाए: 

  • हमेशा भोजन के समय चेहरा पूर्व की और रखे|
  • रसोई घर को दक्षिण-पूर्व याने अग्नेय स्थान मे रखे और उस से जुड़ कर टॉयलेट बाथरूम ना रखे| 
  • सोते समय माथा दक्षिण की और रखे या पूर्व की और| अपने बाए साइड पर सोए अगर आप को कफा और वात प्रकृति है और दाहिने और सोए अगर पित्त प्रकृति के है| बेड को दीवारो से 3 इंच दूर रखे|
  • पूर्वी उत्तरीय दिशा मे एक फाउंटेन रखे|
  • महामृत्युंजय मंतरा का हर रोज 108 बार जाप करे| 

वास्तु मे विस्तृत रूप से सुझाव है की क्या करना चाहिए और कैसे करना चाहिए और इतने ही विस्तृत सुझाव है की क्या नहीं करना या होना चाहिए घर के रचना मे, निर्माण मे घर के कमरे के पोज़िशनिंग मे और कमरे के अंदर हर एक चीज़ के लिए| तब जाके वास्तु के फायदा अवश्य मिलते है| क्योंकि हर घर वास्तु से पनकित या संरेखित नहीं हो सकता है तो वास्तु रेमेडीस भी है को वास्तु दोष का निवारण कैसे करे| पढ़ते रहे और निखारे जीवन को क्योंकि वास्तु जीवन का ब्यूटी ट्रीटमेंट है|

TAGS: #Vastu Tips for Home in Hindi #vastu tips in hindi #vastu shastra tips in hindi #vastu tips in hindi for house #वास्तु टिप्स फॉर होम #४०० वास्तु टिप्स इन हिंदी #घर वास्तु टिप्स #वास्तु शास्त्रानुसार घर #vaastu tips #vastu directions #vasthu tips #vastu dosh # #Vastu shastra for bedroom/good health in hindi #north/south facing house vastu #vastu for house/home #vastu shastra for house #vastu for home #office vastu #vastu sastra for home #vastu tips for business growth in hindi #vaastu shastra in hindi

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

20 Comments

Ajeet Kumar, Feb 28, 2018

Sir meri toilet purav DISHA ke saamana hai and pashchim DISHA piche Bana hai meri koi galat DISHA hai to kripa karke koi tips dijiye hame Kal tak bata dijiye

Vishal, Feb 09, 2018

Aap aur bhi vastu shastra ki nayi jankari send karen please these are nice and good.

Sohan Lal Trivedi, Jan 24, 2018

Main utna vastu shastra ke baare mai to nahin jaanta par main yeh jaanna chahta hun ki mere haath mai paise aate hain par wo turant kharch ho jaate hain kuch pata hi nahin chalta iske liye mujhe koi tips batayen?

भावेश, Jan 24, 2018

मुझे घर मे कलह व लडाई झगडे दूर करने का उपाय बताइए जिनसे मेरे घर के लड़ाई झगड़े दूर होके बिल्कुल ख़तम हो जाएँ|

Bhumi Shah, Jan 18, 2018

jaise ki hame ghar mai koi bhi toota saman nahin rakhna chahiye kiyunki isko ashubh mana jaata hai to main iska karan janna chahti hun ki aisa kiyun hota hai?

लुकेश , Jan 17, 2018

मुझे कोई ऐसी होम रिमेडीज वास्तु शस्त्र की बताइए या मुझे इसके टिप्स की जानकारी दें जिनका मैं फायेदा ले सकूँ|

कल्पना गर्ग, Jan 09, 2018

मुझे आपसे घर के लिए वास्तु शास्त्र टिप्स की आवश्कता है इसलिए मैं यह जानना चाहता हूँ प्लीज़ हेल्प मी

Kewal Ram , Jan 06, 2018

Kehte hain jab bhi koi ghar se bahar ja rahe ho to unko kabhi nahin tokna chahiye ya kuchch bhi nahin puchna chahiye ki aap kahan ja rahe ho kiyunki isko shubh nahin mana jaata.

Divya Gupta , Jan 03, 2018

Bed room mai kabhi bhi bhagwan ke photos nahin lagani chahiye koi bhi poster nahin lagana chahiye lekin agar aap lagana hi chahte hain to koi greenery ka poster lagayen isse aapka man shaant rahega.

 

Hardeep Dhuna, Apr 04, 2018

Radha krishan ki photo bhi laga sakte hain.

Mohan Suri, Dec 29, 2017

jaisa ki hum jaante hain ki koi bhi kaam karne se pehle bhagwaan ka naam lena chahiye usi tarah aap apne ghar ke sukh shanti ke liye om ka sign wala board bahar lagayen.

कविता कुमावत , Oct 25, 2017

कृपया यह बताएं की भवन में सीढ़ियों की संख्या कितनी शुभ मानी गई हैं जैसे की इस तरह 2 4 6 8 या 10|

 

सतीश, Nov 21, 2017

घर के लिए वो वास्तु शास्त्र टिप्स कौन्से हैं उसकी संपूर्ण जानकारी दें|

 

Monu Walia, Mar 06, 2018

Vastu shastr ke baare men bataiyev

ज़ीनत , Sep 27, 2017

मेरे घर में कोई भि चीज़ टिकती नहीं है खास कर शीशा और कंघी यह सबसे जाएदा गुम हो जाती हैं प्लीज़ आप हि कुछ परामर्श दीजिए क्यूंकी मैने कई लोगों के मुहन से सुना है कि यह चीज़ें गुम हो जाना अच्छा नहीं होता क्या ऐसा सही है?

जगदीश क़ाला , Sep 26, 2017

किया आप बता सकते हैं की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के लिए कौन सा पौधा लगाना शुभ होता है आप प्लीज़ बता दीजिए की कौन सा पौधा घर के लिए सबसे अच्छा होता है? प्लीज़ गिव मी वास्तु टिप्स

रेशम पराशर , Sep 21, 2017

मैने सुना है की अगर घर में कोई तुलसी का पौधा होता है तो वहाँ का बहुत शुभ वातावर्ण होता है किया ऐसा सच में होता है मुझे ज़रूर बताएँ|

 

Rahul Malik, Jan 21, 2018

Rakh lo ji faayeda ka to pata nahin lekin nuksaan to bilkul nahin hai.

 

Bhart Singh, Jan 22, 2018

i am interested to know the vastu shastr tips in which i can take the benifits from these tips for home.

मोहन, Sep 20, 2017

मुझे वास्तु शास्त्र के बारे में जाएदा पता नहीं है पर इतना पता है कि घर वो अच्छा होता है जिसमे हवा और धूप अच्छे से आए और साथ ही आपके दुवारा बताए गये वास्तु टिप्स अच्छे हैं| थैंक्स

कुश सिन्हा, Sep 16, 2017

गेस्ट रूम उतर पूर्व की ओर होना चाहिए अगर उतर पूर्व में कमरा बनाना संभव ना हो तो उतर पश्चिम दिशा दूसरा सर्वश्रेशठ विकल्प है|

अभय सिंग, Sep 14, 2017

आपने जो वास्तु शास्त्र टिप्स फॉर हिन्दी वाले आर्टिकल लिखे हैं वो बहुत अच्छे तरीके से लिखे हुए हैं इससे पहले मुझे कुछ नहीं मालूम था पर अब कुछ कुछ समझ में आने लगा है|

कनिष्का तनेजा, Sep 02, 2017

यहा बताए गए घर के वास्तु टिप्स मैने ट्राइ किए हैं वाकईए में ही बहुत ही अच्छे हैं आर्टिकल को शेयर करने के लिए मेरी तरफ से आपको शुक्रिया

हनी, Aug 19, 2017

नाइस पोस्ट कुच्छ हेयर लॉस के लिए भी बताओ

 

सुरेश चन्द्र , Mar 08, 2018

बड का दुध लगा लो

Birkha Ram, Aug 16, 2017

ghar ke liye mujhe vaastu shaastr ki jarurat hai vaastu shastr ke kuch tips bata den mujhe apna ghar banaana hai

Loading...