मंजिष्ठा के फायदे और नुकसान - Manjistha Benefits and Side Effects in Hindi

मंजिष्ठा के फायदे और नुकसान (Manjistha (Rubia cordifolia) benefits and side effects in hindi, manjistha ke fayde aur nuksan in hindi): मंजिष्ठा को मजीता भी कहा जाता है और अँग्रेज़ी नाम है मददेर रुट (madder root -Rubia Cordifolia) जो पहाड़ी जगह पर उगता है| आयुर्वेद की हज़ारो जड़ी बूटीओ मे मंजिष्ठा का एक विशेष स्थान है क्योंकि इसमे फायदे कई है| त्वचा के लिए, गठिया में, कैंसर में, घाव लगने पर और मधुमेह की बीमारी मे यह बहुत उपयोगी साबित होता है| जानिए मंजिष्ठा हर्ब के बारे में और मंजिष्ठा बेनिफिट्स के बारे मे| 

मंजिष्ठा के आयुर्वेदिक फायदे - Ayurvedic benefits of manjistha in hindi

  • कील मुहांसे हो तो मंजिष्ठा फॉर स्किन उत्तम आयुर्वेदीय औषध है यह मिटाने के लिए| 
  • मंजिष्ठा आयुर्वेद में कील मुहासे ही नहीं बल्कि गठिया, कैंसर, आक्षेप, मधुमेह और घाव पर भी अच्छा असर करता है| 
  • मंजिष्ठा आयुर्वेद दवाई मे उपयोग किया जाता है शरीर मे से मुक्त कन याने की फ्री रेडिकल्स (free radicals) हटाने के लिए, ज्ञान तंतु के बिगड़ते हालात की अटकायत के लिए, रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के लिए, पेशाब को बढ़ाने के लिए, खून मे शर्करा कम करने के लिए और कैंसर की रोकथाम के लिए| 
  • आयुर्वेद में मजीत का रस मधुर होता है, तीखा और कसैला माना गया है और इसकी तासीर गरम है और इसका चूर्ण 3 ग्राम तक सेवन करे और कवाथ 50 ML तक| 
  • सुश्रुता के अनुसार मंजिष्ठा से पित्त दोष का शमन होता है और इसे रसायन कहा गया है| 

चेहरे के दाग धब्बे मिटाने के लिए मंजिष्ठा के फायदे – Manjistha benefits to remove facial spots and scars in hindi

  • मंजिष्ठा पिगमेंटेशन (pigmentation) के लिए उत्तम औषध है| मंजिष्ठा रूट पाउडर का काढ़ा बना के पिए तो फायदा होगा और इसका लेप बना के चेहरे पर लगाए तो दाग का रंग हल्का होने लगेगा| 
  • मंजिष्ठा पाउडर फॉर फेस का उपयोग करे तो मलिनीकरण याने स्किन पिगमेंटेशन से छुटकारा मिलता है| हल्दी, चंदन और दही या दूध मे मिला के लेप नियमित किया करे| 
  • मंजिष्ठा पाउडर फॉर फेस उपयोग करना है तो सिर्फ़ शहद और नींबू के रस में भी मिला के दाग धब्बे हटाने के लिए उपयोग करे|

(और पढ़े - पुराने से पुराने पिम्पल्स,दाग-धब्बे व किसी भी तरह के निशान हटाने का अचूक उपाय)

दाद को दूर करने के उपाय मंजिष्ठा के उपयोग से करे – Manjistha benefits for eczema, dermatitis and itching in hindi

  • मंजिष्ठा फॉर स्किन एक चमत्कारिक जड़ी बूटी है| इसका सेवन काढ़े के रूप मे करे और मजीठ पाउडर का लेप अन्य सामग्री जैसे की हल्दी और शहद के साथ मिला के त्वचा पर लगाए तो दाद, खुजली और डर्मेटाइटिस (dermatitis) से छुटकारा मिलता है| 
  • दाद, खुजली और ऐसे चर्म रोग में मंजिष्ठा पाउडर बेनिफिट्स और बढ़ जाते है जब इसमें नींम के पत्तो का पेस्ट और हल्दी मिलायी जाए| 
  • मंजिष्ठा आयुर्वेद के अनुसार कई अलग प्रकार के बैक्टीरिया और फंगस का नाश करता है जो की कील मुहांसो के लिए, दाद और खुजली और एक्जिमा (eczema) के लिए ज़िम्मेदार है और ऐसे हालात में हल्दी के साथ इसका उपयोग किया जाए|  
  • संतरे के सूखे छिलके, हल्दी और चंदन का लेप बनाए जिसमे मंजिष्ठा पाउडर हो तो यह ठंडक पहुँचता है दाद और खुजली में|

गर्भवती महिलाओ के लिए मंजिष्ठा के फायदे – Manjistha powder benefits for pregnant women in hindi

  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स महिलाओ के लिए है इस प्रकार है की जो महिला अनियमित मासिक धर्म से परेशान है तो मंजिष्ठा पाउडर, लोधरा और अशोक छाल  के चूर्ण का काढ़ा बना के पिए तो इस समस्या का हल होता है और गर्भवती बन सकती है| 
  • गर्भवती महिला बच्चे को जन्म दे तब दूध बढ़ाने के लिए और शुद्ध रखने के लिए मंजिष्ठा पाउडर या तो मंजिष्ठा रूट पाउडर से बनाया कवाथ पीते रहे| 
  • गर्भवती महिला को दस्त हो जाए तो मंजिष्ठा, यष्टिमधु और लोधरा चूर्ण को मिला के एक चम्मच खाए तो दस्त बंद हो जाते है और लहू भी शुद्ध हो के इम्यूनिटी बढ़ जाती है| 
  • मंजिष्ठा पाउडर रोजाना है 3 से 5 ग्राम प्रतिदिन और कवाथ हो तो मंजिष्ठा की खुराक है करीब 30 ML से 50 ML प्रतिदिन|

(और पढ़े - प्रेगनेंसी में किस तरह अपना ध्यान रखें )

हड़डियो के लिए मंजिष्ठा के लाभ – Health benefits of manjistha for strong bones in hindi

  • दांतो मे सड़न हो तो मंजिष्ठा पाउडर बेनिफिट्स यह है की इससे दन्त मंजन करे तो इस परेशानी से मुक्ति मिलती है| 
  • एक्सीडेंट मे फ्रॅक्चर (fracture)हो जाए तो मंजिष्ठा रूट पाउडर, महुआ के पेड़ की छाल का चूर्ण और ईमली के पत्तो को पीस के लेप बना के पट्टी बाँध ले तो जल्दी से घाव मिट जाता है और हड्ड़ी जुड़ जाती है| ऐसे मे चावल के पानी मे मंजिष्ठा पाउडर मिलाके लगाए तो फायदा होता है| 
  • हड्ड़ी कमजोर हो जाए या ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) हो जाए तो आर्गेनिक मंजिष्ठा पाउडर, शहद के साथ हर रोज सेवन करे| 
  • चोट लगने पर मंजिष्ठा पाउडर का काढ़ा बना के पीते रहे और यष्टिमधु पाउडर मिला के लेप करे तो सूजन और दर्द कम होती है| 

मंजिष्ठा बालो के लिए श्रेष्ट घरेलु उपाय - Manjistha benefits for hair in hindi 

  • अकाल ही बाल अगर सफेद होने लगे तो मंजिष्ठा हर्ब का उपयोग हेयर आयल में करे तो बाल सफेद होने से बच जाते है और धीरे धीरे फिर से काले होने लगते है| मंजिष्ठा आयुर्वेदा हेयर आयल मे मंजिष्ठा, ब्राहमी, भृंगराज, जटामांसी, कड़ी पत्ते, गुड़हल के फूल, आमला और ऐसी अन्य जड़ीबूटीओ का प्रयोग किया जाता है केश तेल के लिए| 
  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स फॉर हेयर पाने के लिए हर रोज इसके कवाथ का भी सेवन करे तो रक्त संचार मे सुधार आएगा और बालो की जड़ो तक खून पहुँचने से बालो की वृद्धि होती है क्योंकि बालो को पूर्ण पोषण मिलता है| 
  • मंजिष्ठा रूट पाउडर का लेप बनाए दही या नींबू के रस के साथ और बालो मे लगाए तो रूसी और ऐसी शिकायातो से छुटकारा मिलेगा|

(और पढ़े - बालो को तेजी से बढ़ने के उपाय )

मंजिष्ठा के फायदे त्वचा के लिए - Manjistha benefits for skin in hindi

  • त्वचा संबंधित कोई भी तकलीफ़ हो तो आर्गेनिक मंजिष्ठा अमृत तुल्य है क्योंकि यह रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाता है और लहू को शुद्ध कर देता है| 
  • कील मुहांसो से, बढ़ती उमर से या बीमारी से त्वचा पर दाग हो जाए तो मंजिष्ठा पिगमेंटेशन (pigmentation) हटाने के लिए उत्तम औषध है| मंजिष्ठा फॉर स्किन बेनिफिट के लिए इसका लेप बनाए हल्दी, तुलसी का रस और शहद के साथ और देखे इस की करामात| 
  • रुबिआ कर्डिफोलीअ(Rubia Cordifolia) याने मंजिष्ठा कील मुहांसो को मिटा देता है और किसी भी तरह की दाद, खुजली, एक्जिमा(eczema), डर्मेटाइटिस (dermatitis) और फंगल (fungal infection)में बहुत उपयोगी होता है| 

(और पढ़े - त्वचा की देखभाल के असरदार व आसान टिप्स )

मंजिष्ठा के उपयोग से वजन कम करे - Manjistha benefits for weight loss in hindi

  • शरीर मे मेध बढ़ने का कारण है विष ज़्यादा होना, पाचन सही ना होना, दोष होना और सूजन जिन सभी का इलाज है मंजिष्ठा फॉर वेट लॉस| 
  • मंजिष्ठा कवाथ का सेवन करे तो इसमे रहे रसायन से सूजन कम होगी, लहू का शुद्धीकरण होगा, यकृत सही काम करेगा, विष बाहर निकल जाएगा, आँत सॉफ होंगी और इस तरह से शरीर का मेटाबोलिज्म (metabolism) सुधार के वजन कम करने मे सहायक होगा| 

(और पढ़े - वजन घटने के असरदार व आसान तरीके )

मंजिष्ठा के फायदे से रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाए - Benefits of manjistha good for immunity in hindi

  • मंजिष्ठा रूट पाउडर के नियमित सेवन करने से रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ जाती है क्योंकि यह उत्तम विष निवारक है, लिम्फेटिक(lymphatic) याने लसिका ग्रंथियों को सॉफ करता है, लहू को सॉफ करता है, सभी ग्रंथियो की कार्यक्षमता बढ़ा देता है और दिल को भी मजबूत बना देता है| 
  • मंजिष्ठा सप्लीमेंट(supplement) नियमित ले तो तंदूरस्ती बनी रहती है क्योंकि यह आँत को सॉफ रखता है और पेट मे किसी भी तरह के कीटाणु हो तो उनका नाश करके अच्छे प्रोबिओटिक(probiotic) बैक्टीरिया की वृद्धि करता है|

अनियमित मासिक धर्म के लिए मंजिष्ठा के लाभ - Manjistha ke fayde for irregular periods in hindi

  • मंजिष्ठा पाउडर बेनिफिट्स कई है उन महिलाओ को जिनको अनियमित माहवारी की शिकायत है| बस हर रोज मंजिष्ठा पाउडर को अशोक छाल    पाउडर और लोधरा के साथ सेवन करे या तो इसका कवाथ बना के सेवन करे 15 दिन तक तो मासिक धर्म नियमित हो जाता है| 
  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स महिलाओ के लिए और भी है जैसे की श्वेत प्रदर मे यह गुणकारी है| 
  • यही नहीं, मंजिष्ठा सप्लीमेंट लेने से महिलाओ को गर्भाशय संबंधित समस्या भी दूर हो जाती है| 

(और पढ़े - पीरियड्स को रेगुलर कर देते है है ये आसान घरेलु उपाय)

मंजिष्ठा के फायदे गठिया रोग में - Health benefits of manjistha for arthritis in hindi 

  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स गठिये से परेशान लोगो के लिए यह है की इसके सेवन से लसिका ग्रंथि शरीर मे से विष निकालने मे कुशल हो जाती है और सूजन कम हो जाती है| 
  • आर्गेनिक(Organic) मंजिष्ठा का कवाथ बनाके हर रोज 30 ML पिए तो शरीर मे लहू संचार बढ़ जाता है, पित्त दोष का शमन होता है और हड़डियो को भी यह मजबूत बना देता है जिससे गठिया के रोगी को बहुत फायदा होता है| 
  • गठिया से परेशान हो तो मंजिष्ठा हर्ब का सेवन करे, मंजिष्ठा पाउडर की खुराक 5 ग्राम हर रोज और कवाथ है 30 ML से 50 ML| 
  • मंजिष्ठा तेल भी मिलता है जिसकी मालिश जोड़ो पर करे तो काफ़ी राहत महसूस होगी|

(और पढ़े - पुरानी से पुरानी गठिया का इलाज)

बुखार में मंजिष्ठा का उपयोग - Manjistha powder benefits for fever in hindi 

  • बुखार हो तो मंजिष्ठा हर्ब के सेवन से बुखार तो नहीं मिट जाएगा मगर मंजिष्ठा बेनिफिट्स से जल्दी से रिकवरी आएगी| 
  • बुखार में मंजिष्ठा फायदा देता है क्योंकि भूख मर जाती है और इस के कवाथ के सेवन से भूख खुल जाती है| 
  • बुखार में रक्त विकार होता है और दिमाग़ भी बेचैन होता है तो मंजिष्ठा बेनिफिट्स मे यह दिमाग़ को शांत करता है और लहू का शुद्धीकरण करता है|

(और पढ़े - जाने बुखार में ठंडे पानी की पट्टियां सिर पर रखना सही है या गलत)

नाख़ून के रोग के लिए मंजिष्ठा के फायदे – Manjistha ke fayde for nails in hindi

  • कई लोगो मे नाख़ून जान हींन दिखते है तो ऐसे मे मंजिष्ठा पाउडर का लेप बनाए शहद के साथ और नाख़ून पर लगा के रखे तो अपने आप नाख़ून चमकीले हो जाएँगे| 
  • नाख़ून मे फंगस लग जाए  है तो मंजिष्ठा रूट पाउडर का कवाथ बनाए और हर रोज 30 ML पिए और साथ मे नाख़ून पर लगा के रखे हर रोज रात को तो 3 महीने मे इससे मुक्ति मिलेगी|

(और पढ़े - नाखूनों को लम्बे मजबूत और सुंदर बनाने के रामबाण उपाय)

पथरी का इलाज के लिए मंजिष्ठा के फायदे – Manjistha benefits for kidney stones in hindi

  • पथरी मे मंजिष्ठा बेनिफिट्स पाने के लिए इस का कवाथ बनाए और पत्थर चट्टा पत्ते के रस के साथ 15 दिन तक सेवन करे| 
  • मंजिष्ठा हर्ब सफाई का काम करता है शरीर मे इसीलिए पथरी की बीमारी में यह लेने से ना सिर्फ़ पथरी निकल जाती है मगर भविष्य मे फिर से पथरी होने की शंका कम हो जाती है| 

(और पढ़े - गुर्दे और पित्ते की पथरी का देसी घरेलू इलाज )

मंजिष्ठा के घरेलु नुस्खे से सूजन कम करने के उपाय करे – Manjistha benefits for inflammation in body in hindi

  • शरीर मे विष जमा होने से और लसिका ग्रंथि के ठीक से काम ना करने पर शरीर मे सूजन होती है जो हर रोग का मूल कारण है तो इससे बचने के लिए मंजिष्ठा चूर्ण या तो मंजिष्ठा कवाथ या तो मंजिष्ठा सप्लीमेंट का नियमित सेवन करे| 
  • मंजिष्ठा मे सलिसिलाटेस(salicylates) तत्त्व है जो सूजन को कम कर देते है इसीलिए शरीर मे सूजन हो तो कवाथ या मंजिष्ठा पाउडर बेनेफिट उठाए इस का सेवन करके और बाहरी सूजन हो तो इस का लेप करे सरसों के तेल और हल्दी के साथ मिला के| 

मंजिष्ठा के अन्य फायदे – Other manjistha benefits and uses in hindi 

  • जले हुए घाव मे मंजिष्ठा हर्ब को एलो वेरा जेल मे मिला के लगाए तो जल्दी से घाव मिट जाते है| 
  • पथरी से परेशान मरीज़ अगर पठार चटटा के साथ मंजिष्ठा हर्ब का सेवन करे तो पथरी अपने आप पिघल के बाहर आएगी और गुर्दे भी मजबूत हो जाएँगे| 
  • पुराने और जटिल दस्त मे मंजिष्ठा रूट पाउडर के सेवन से यह शिकायत दूर हो जाती है| 
  • पीलिया हो जाए तो मंजिष्ठा का कवाथ भूमि आमला के रस के साथ सेवन करे तो जल्द ही मरीज़ ठीक हो जाता है| 
  • स्ट्रोक (Stroke) या लकवे का असर हो जाए तो मंजिष्ठा कवाथ के पीने से जल्दी से राहत मिलती है| 
  • पित्ते में अगर तकलीफ़ हो और पित्ताशय मे विकार हो जाए तो मंजिष्ठा पित्त विकार को सुधार देता है| 
  • पेशाब संभंधित परेशानियो का हल है नियमित मंजिष्ठा कवाथ का सेवन करना| 

मंजिष्ठा की सावधानी और खुराक – Precautions and dosage of Manjistha in hindi

  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स ज़रूर देता है मगर इसमे बहुत तेज रसायन होते है इसीलिए मंजिष्ठा पाउडर की खुराक हमेशा 5 ग्राम से कम लेनी चाहिए प्रतिदिन और हो सके तो हफ्ते मे 4 दिन ले और 3 दिन ना ले| 
  • गर्भवती महिलाओ को मंजिष्ठा हर्ब का सेवन संभाल के करना होगा क्योंकि मंजिष्ठा पाउडर की खुराक बढ़ा दी तो मंजिष्ठा साइड एफेक्ट्स में गर्भपात हो सकता है और बच्चे मे दोष हो सकते है| 

मंजिष्ठा के नुकसान – Harmful side effects of Manjistha in hindi

  • आज कल असली मंजिष्ठा मिलना मुश्किल है इसीलिए सिर्फ़ आर्गेनिक (organic) मंजिष्ठा का ही उपयोग करे क्योंकि मंजिष्ठा पाउडर के सेवन से कैंसर हो सकता है अगर यह शुद्ध नहीं है| 
  • मंजिष्ठा बेनिफिट्स तो मिलते है मगर दुष्प्रभाव मे पेशाब,थूक और पसीने का रंग लाल हो जाता है| 
  • गर्भवती महिला अगर ज़्यादा मंजिष्ठा पाउडर का उपयोग करे तो गर्भपात हो सकता है और अतिशय उपयोग से होने वाले बच्चे मे ख़ामिया हो सकती है|
  • स्तनपान करती माता भी अगर ज़्यादा उपयोग करे तो मंजिष्ठा से दूध लाल हो जाता है और बच्चे पर बुरा असर हो सकता है इसीलिए हमेशा मंजिष्ठा पाउडर की खुराक 3 gm से ज़्यादा ना ले और हफ्ते मे 4 दीनो तक ही ले| 
  • क्योंकि मंजिष्ठा पाउडर या कवाथ मे कई अलग प्रकार के रसायन है तो दवाई लेते हो तो ऐसे मरीज़ डॉक्टर की सलाह से मंजिष्ठा का सेवन करे नहीं तो दुष्प्रभाव हो सकते है| 
  • जिन्हे एलर्जी जल्दी से हो जाती है तो पहले मंजिष्ठा की थोड़ी खुराक ले के देखे नहीं तो दुष्प्रभाव से शरीर पर फोड़े और साँस लेने मे तकलीफ़ हो सकती है| 
  • चेहरे पर मंजिष्ठा पाउडर फॉर फेस इस्तेमाल करते हो तो ध्यान मे रहे की इससे त्वचा पर लाल रंग पड़ सकता है और सवेदनशील त्वचा में जलन हो सकती है इसीलिए शहदऔर मलाई के साथ उपयोग करे| 
  • क्योंकि मंजिष्ठा पाउडर में सलिसिलाते (salicylate)और ट्रिटेरपेनोइड(triterpenoid) रसायन होते है तो ज़्यादा मात्रा मे सेवन करे तो इससे पेट मे गड़बड़ हो सकती है|

यह है थोड़ीसी जानकारी मंजिष्ठा के बारे मे| मंजिष्ठा बेनिफिट्स जैसेकि आपने देखा, कई है और इसका नियमित सेवन कम मात्रा में करे क्योंकि मंजिष्ठा साइड एफेक्ट्स भी होते है ज़्यादा खुराक लेने पर| हफ्ते मे सिर्फ़ 4-5 दिन मंजिष्ठा पाउडर का 5 gm या मंजिष्ठा कवाथ 30ML| प्रतिदिन करे तो रोग निकल जाते है और शरीर निरोगी रहता है|

TAGS: #manjistha ke fayde aur nuksan in hindi #health benefits and side effects of manjistha in hindi #manjistha ke labh upyog nuskhe upay tarike in hindi #manjitha benefits for skin/hair in hindi #benefits of manjistha in hindi #manjistha powder benefits in hindi #manjistha face pack

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

5 Comments

Reema Seth, Jan 22, 2018

Manjhistha ke sevan se hamare jodon ka dard thik ho jata hai aur saath hi agar sujan ho to iska lep lagane se aapke sujan mai kami aati hai aisa meri daadi maan ne bataya hai.

Jeenat Singh , Jan 10, 2018

Agar aapko bukhar hai aur aap medicine nahin lena chahte to aap manjhistha ke powder ka istemaal karke aap bukhar se rahat pa sakte hain.

Supriya , Jan 02, 2018

Mere haath pairon mai yahan tak ki mere pure sharir ke haddi mai bahut tej dard hota hai kya manjistha isme koi madad kar sakta hai please mujhe bataiye main maatr 21 saal ki hun aur mere haddi dard karne lagi hai please help me

 

Dinesh Tripathi , Jan 05, 2018

Agar aapki haddi kamjor hone ke wajah se aapke badan mai dard hota hai to aap manjistha ka sevan karen isse aapke haddiyan majboot ho jaayengi.

Mohit Saini, Dec 28, 2017

Aapne jo manjistha ke fayede bataye hain wo kaafi achche hain aur easy to affordable hain mujhe to iske baare mai pata hi nahin tha ki aisa kuchch hota bhi hai jisse itne fayede hain.

Meena Sharma , Dec 26, 2017

jaisa ki aapne bataya hai ki manjistha ke kiye saare faayede hain lekin wo dikhane mai kaisa hota hai aur wo kahan milega kiya aap mujhe yeh bata sakte hain.

Loading...