बच्चों के दांतो को कैविटी से कैसे बचाए - Home Remedies for Cavities in Hindi

बच्चों के दांतो को कैविटी से कैसे बचाए - Home Remedies for Cavities in Hindi

कैविटी के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Cavities in Hindi, cavity ka ilaj in hindi): घर मे छोटा बच्चा हो तो हर कोई उस को खुश रखने के लिए बच्चे की इच्छा पूरी करता है और बच्चों को चाहिए खट्टी मीठी चीज़े जैसे की चॉकलेट और बिस्कुट| एक तरफ यह है और दूसरी तरफ यह बात भी है की माता-पिता बच्चो की मौखिक स्वच्छता का ध्यान नहीं देते है| परिणाम यह होता है की बच्चों के दांतो मे कैविटी प्रकट होने लगते है और बच्चों को दर्द और परेशानी होती है| बच्चों के दांतो मे कैविटी ना हो इस का ध्यान रखना सरल बात है| तो कैविटी कैसे हटाए (cavity kaise hataye) इस प्रशन से परेशान न हो यहाँ पर बताए गए कैविटी से छुटकारा पाने के उपाय, कैविटी के लिए घरेलू उपचार, कैविटी का इलाज (cavity ka ilaj in hindi),  कैविटी से बचने के असरदार घरेलु उपाय (cavity se bachne ke upay), दांतो मे छेद और सड़न ना हो इस के टिप्स आज़माए और अपने बच्चों के दांतो को सॉफ और तंदुरुस्त रखे| 

कैविटी क्या है - How cavity is formed in teeth in hindi - कैविटी के लक्षण

लापरवाही मुख्य वजह है दांतो मे सड़न और कैविटी के लिए मगर और भी कारण है जो जानिए: 

  • किसी भी आहार के कन दांतो के बीच फ़से रहे तो बैक्टीरिया उन पर काम करने लग जाते है|
  • यह बैक्टीरिया ज़हरीले पदार्थ और एसिड उत्पन्न करने का कार्य करते है और प्लाक याने पीलेपन का निर्माण होता है जो दांतो पर एक परत बना लेता है| 
  • यह एसिड दांतो के बाहर के इनैमॅल पर आक्रमण करता है और उसका नाश करता है और अंदर के नरम भाग एसिड मे घुल जाते है| 
  • इन कार्यो का परिणाम है की दांतो मे कैविटी हो जाती है| 
  • दांतो की सफाई ठीक ना हो तो प्लाक और मैल की परत बन जाती है जिन मे बैक्टीरिया का विकास होता है और उन से निर्माण किए एसिड से कैविटी उत्पन्न होती है| 

सबसे पहले कैविटी का घरेलु उपचार करे मौखिक स्वच्छता से – Brushing and oral hygiene for tooth cavity in hindi

ओरल हाइजीन याने मौखिक स्वच्छता की आदत बचपन से डाले तो डेंटल कैविटी तो क्या दांतो की समस्या आप के बच्चों को आज, कल और भविष्य मे परेशान नहीं करेगी| जानिए कैसे मौखिक स्वच्छता बनाए रखे अपने बच्चों मे| 

  • कम उमर मे बच्चो को मौखिक स्वच्छता का ज्ञान दे और कैसे दाँत खराब होते है मीठे पदार्थ से इस की जानकारी दे और समझाए की दांतो मे कैविटी हो जाए तो कितनी परेशानी होगी| 
  • बच्चो को दाँत मंजन कैसे करना यह सिखाए| 
  • दिन मे दो या तीन बार ब्रश करने की आदत डाले और बेहतर यह है की कुछ भी, खास कर के मीठा खाए, तो ब्रश अवश्य करे| 
  • कुछ भी खाने के बाद कैसे पानी से दांतो को सॉफ करे यह भी आदत बच्चों मे डाले| 
  • फ्लॉसिंग करना सिखाए तो दाँत संपूर्ण सॉफ रहेंगे| 
  • फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का इस्तेमाल करे क्योंकि फ्लोराइड दांतो को रक्षण देता है| 
  • माउथवॉश से कुल्ला करे सोने से पहले, यह बात उन के दिमाग़ मे डाल दे और हर रोज प्रैक्टिस करवाए| 

कैविटी से छुटकारा पाने के उपाय के लिए बच्चों को चीनी से दूर रखे – Keep sugar away from children for cavity ka ilaj in hindi

चीनी और शर्करे पदार्थ तो बच्चो का पहली पसंद है मगर चीनी से दूर रखे उन्हे या तो चीनी उन से दूर रखे और जब भी बच्चे मीठा खाए तो तुरंत मुँह मे पानी से कुल्ले करे| कौनसे शर्करा वाले पदार्थ है जो दाँत के दुश्मन है? आगे पढ़िए और जानिए| 

  • चीनी युक्त पदार्थ जैसे चॉकलेट, बिस्कुट, केक, पेस्ट्री हो सके उतना कम दे बच्चों को| 
  • कार्बोनेटेड सॉफ्ट ड्रिंक्स भी बच्चों को ना दे| 
  • पैकेज्ड  फ्रूट जूस भी ना दे क्योंकि इस मे ज़्यादा चीनी होती है जो दांतो को नुकसान करने मे सहायक है| 
  • मैदे से बनी खाद्य पदार्थ से बच्चों को दूर रखे और उन्हे समझाए की इन से कितना नुकसान हो सकता है| कभी कभी इच्छा पूरी करने के लिए दे मगर यह रेग्युलर आदत ना बनाए| 

बच्चे के दांतो को सुरक्षित और कैविटीज़ के उपचार के लिए फ्रूट और सब्जी खिलाए – Give your child healthy fruits and vegetables for teeth problems home remedies in hindi

चीनी और नमकीन के बजाये बच्चों को जब भी भूख लगे तो फल और सब्जी खाने की आदत डाले तो जीवन भर दाँत रहेंगे तंदूरस्त| 

  • छोटे बच्चों को अक्सर कुछ ना कुछ खाने को चाहिए| ऐसे मे बिस्कुट, चॉक्लेट, केक के बदले कोई भी फ्रूट दे या तो कच्ची सब्जी जैसे की गाजर और ककड़ी खाने की आदत डाले जिस से दाँत सॉफ भी होंगे और कैविटी से सुरक्षित भी रहेंगे| 
  • फल और सब्जी के सेवन से सेहत भी सुधरती  है और बच्चे हाइड्रेटेड भी रहते है| 
  • बच्चो को सिखाए की बार बार पानी पीते रहे क्योंक पानी दांतो को साफ कर देता है और बैक्टीरिया को धो देता है| 
  • फल और सुबजी से मुँह मे थूक का उत्पादन होता है जो दांतो को साफ रखता है और बैक्टीरिया दांतो पर चिपकने से रोकता है| 

कैविटी से बचने के उपाय में डेंटिस्ट से चेकउप करवाते रहे – Make regular dental checkup a habit for your kids as a precautions for cavitation

जागृत रहना उचित है| सावधान रहके समस्या को खड़ी ना होने दे बच्चों के दांतो मे और इस के लिए डेंटिस्ट द्वारा नियमित परिक्षण करवाते रहे| 

  • दांतो मे कैविटी हो जाने की संभावना रहती है सभी तरह के सावधानी के बाद इसीलिए महीने मे एक बार डेंटिस्ट के पास ज़रूर ले जाए अपने बच्चे को| 
  • डेंटिस्ट चेक उप से दांतो मे टेढ़ापन हो तो भी यह समयसर इलाज हो सकेगा और कैविटी की शुरुआत होने लगी है तो भी इलाज होगा| 
  • अगर डेंटिस्ट को ऐसा लगे की दांतो के बीच मे जगह है तो वो अंदर सीलैंट भर देगा तो दांतो को कैविटी से सुरक्षा मिलेगी| 
  • डेंटिस्ट चेक उप से यह भी फायदा होगा की अगर दाँत सड़ने लगे है तो फ़ौरन इलाज होगा| 
  • बचपन मे डेंटिस्ट विज़िट की आदत डाले तो जीवन भर बच्चा अपने दांतो की हिफ़ाज़त करना सीखेगा| 

फ्लोराइड से करे दाँतों की कैविटीज़ के घरेलू उपाय  - Fluoride Repair Cavaties in Hindi

  • 6 महीने से लेके 16 साल की उमर के बीच दांतो की देखभाल करे फ्लोराइड से| फ्लोराइड दांतो को मिलना बहुत ज़रूरी है दांतो को सड़न से बचने के लिए| 
  • फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का उपयोग करे, पानी और आहार जो फ्लुराइड युक्त हो| 
  • डेंटिस्ट से दांतो की जाँच करवाए और अगर कैविटी हो तो डेंटिस्ट खुद फ्लोराइड टूथपेस्ट का सुझाव देगा या तो फ्लोराइड क्रीम और जेल लगाएगा| 
  • फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का उपयोग करे तो बहुत कम मात्रा मे, सिर्फ़ मटर के दाने जितना उपयोग मे ले| 
  • अगर घर मे वॉटर प्यूरिफाइयर का उपयोग होता है तो निश्चित है की फ्लोराइड निकल जाता है इसीलिए फ्लोराइड टूथपेस्ट का उपयोग कैविटी से बचाए रखता है| 
  • फ्लोराइड दांतो के उपर की परत याने इनेमल के रक्षण और पुनर निर्माण का कार्य करता है इसीलिए बहुत आवश्यक है| 

च्युइंग गम के इस्तेमाल से कैविटी का घरेलु उपचार  - Chewing gum prevents cavities in Hindi 

  • दांतो मे सड़न जिस से कैविटी होती है उस का मुख्य कारण है मुँह का सूखना और परिणाम स्वरूप कीटाणु का फैलना जो एसिड पैदा कर के दांतो के उपर के इनेमल परत को पिघला देते है| 
  • च्युइंग गम चबाने से मुँह मे थूक का उत्पादन होता है जो प्राकृतिक कीटाणु नाशक है और मुँह मे PH लेवेल बनाए रखता है जिस से एसिड का निर्माण नहीं होता है| 
  • चीनी रहित च्युइंग गम का उपयोग ना करे और एक ही च्युइंग गम को पूरे दिन चबाते ना रहे| 
  • खाने के बाद च्युइंग गम उपयोग करे तो दांतो के बीच मे से आहार के कन भी निकल जाते है और दाँत सॉफ रहके दांतो के उपर प्लॅाक की परत नहीं बनती है| 
  • पूरे दिन भी गम चबाने की ज़रूरत नहीं है| 

फ्लॉसिंग से दांतो की सड़न के उपाय - Flossing Reduces Cavaties in Hindi

  • फ्लॉसिंग याने की धागे को दो दांतो के बीच मे घूमना और ऐसा करने से जो भी आहार के कन रह जाते है दंटो के बीच वो निकल जाते है और दाँत साफ रहने से कीटाणु नहीं रहते है जो एसिड पैदा कर के दांतो में सड़न पैदा करते है| 
  • फ्लॉसिंग करने के लिए नाइलॉन या PTFE धागे का इस्तेमाल करे| 
  • करीब 18 इंच लंबे धागे को उंगलियो के बीच पकड़ के दो दांतो के बीच मसूड़ों तक उतारे और धीमे से घुमाए ताकि कोई भी कन हो वो निकल जाए| 
  • सवेरे नहीं तो रात को सोने से पहले अवश्य फ्लॉस करे तो कैविटीज़ से रक्षण मिलता है| 
  • एक ही धागा बार बार इस्तेमाल ना करे और एक धागे के नये हिस्से से हर दो दंटो के बीच की जगह को घिसे हल्के हाथो से| 

किशमिश से करे कैविटी के घरेलू उपाय - Fight cavities with Raisins in Hindi 

  • रैसिन्स याने की किशमिश को चबाने से आप के दाँत कैविटी से सुरक्षित रहेंगे मगर कैविटीज़ है तो यह भर नहीं जाएँगी| 
  • किशमिश मे ऐसे ख़ास फ़यटोकेमिकल्स याने रसायन है जो कीटाणु का नाश करते है जिनसे दांतो मे सड़न हो सकती है| 
  • खाने के बाद 5 से 10 किशमिश चबाये तो यह मुँह मे रहे कीटाणु का नाश कर देंगे| 
  • किशमिश चबाने के बाद दांतो को ब्रश अवश्य करे| 
  • कैविटी का घरेलु उपचार अपना रहे हो तो जरूरी है चीनी लगी हुई किशमिश का इस्तेमाल ना करे| 

सीलैंट लगाने लगाए दांतो मे कैविटी का इलाज करे -  Prevent Cavaties with Sealant  in Hindi

  • सीलैंट प्लास्टिक पदार्थ है जो दांतो के कैविटी मे भरा जाता है और प्लॅाक बनने से और कीटाणु के फैलाव से सुरक्षा देते है| 
  • बच्चो मे अगर दांतो मे कैविटी हो जाए तो डेंटिस्ट के पास ले जाए और सीलैंट लगवाए ताकि दाँत सुरक्षित रहे| 
  • आम तौर पर सीलैंट चबाने वाले पीछे के दांतो पर लगाया जाता है मगर डेंटिस्ट अगर देखे की अन्य दाँत मे छेद या कैविटी हो गई है तो वहाँ पर भी सीलैंट लगाएगा| 
  • 12 से 15 साल के बीच मे बच्चो को डेंटिस्ट से चेक उप करवाए ताकि कैविटी वाले दांतो पर सीलैंट लगाए और आगे सड़न के ख़तरे से बच जाए| 
  • सीलैंट लगाए तो करीब 10 साल तक दांतो को कैविटी से सुरक्षा मिलती है|

नन्हे मुँहे बच्चों के दांतो के कैविटी का घरेलु उपचार – Remedies for infant teeth care in hindi

दांतो की समस्या का मूल बच्चे 6 महीने के होते है तभी से हो सकता है इसीलिए नन्हे मुँहे के मूह मे दाँत भले ना आए हो मगर मौखिक स्वच्छता का ख़याल इस प्रकार रखे: 

  • दूध पीता बच्चा है जिस को नये नये दाँत निकले है तो जानिए की दूध मुँह मे रह जाए तो तेज़ी से बैक्टीरिया का विकास होगा इसीलिए उस के मुँह को सॉफ रखना हर माता की ज़िम्मेदारी है| 
  • दांतो का सड़न का चिन्ह है मसूढ़ों पर सफेद दाग| दाँत ना उगे हो तो भी मसूड़ों मे सड़न हो सकती है दूध से इसीलिए नौनिहाल को दूध पिलाने के बाद मुँह को सॉफ करे फ्लोराइड टूथपेस्ट और चावल के आटे के मिश्रण से और यह उपाय 12 महीने तक के बच्चों के लिए उत्तम है| 
  • 12 से 36 महीने के बच्चों को भी इसी तरह दाँत को साफ करे और ब्रश का भी उपयोग करे| दिन मे दूध पिलाए या खाना खिलाए तो दन्त मंजन अवश्य   करे| 
  • छोटे बच्चे को सुलाए तो कभी भी बोतल देके या खाना खिलाके ना सुलाए क्योंकि दूध और आहार मे रहे शर्करे पदार्थ से मुँह मे सड़न होती है और इस का असर कान पर भी होता है| 
  • एक साल का हो जाए उस के पहले से डेंटिस्ट का विज़िट ले के चेक अप करवाए| 
  • पूरा दिन बच्चे को कुछ ना कुछ खिलते ना रहे| दिन मे 3 या चार बार ही खिलाए और तुरंत मुँह सॉफ कर दे| 
  • दाँत निकलना शुरू हो जाए तो फ्लोराइड टूथपेस्ट से मसूड़ों की मालिश करे उंगली के सहारे| 
  • जल्दी से जल्दी बच्चों को कप या ग्लास मे से दूध और पानी पीना सीखा दे और निपल वाली बोतल का उपयोग हो सके उतना जल्दी बंद कर दे| 
  • मसूड़े और उगते दाँतो को मजबूत करने के लिए रेशे युक्त नरम फल के छोटे टुकड़े खिलाए| 

अन्य नुस्खे बच्चों के दांतो को कैविटीस से सुरक्षित रखने के लिए – Tips to prevent dental cavities in kids in hindi

उपर तो जानकारी आपने पाई बच्चों के दांतो की देखभाल की ताकि कैविटी ना हो| अब और थोड़ा कुछ जान ले जो काम मे आएगा बच्चो के दांतो मे कैविटी होने से रोकने के लिए व कैविटी से बचने के उपाय| 

  • बच्चों को कुछ खाना है तो पनीर का टुकड़ा दे क्योंकि इस मे रहे कैल्शियम दांतो के उपर का इनैमेल मजबूत बना देते है| 
  • इसी तरह दही के सेवन से भी इनैमेल मजबूत होता है, खराब बैक्टीरिया का नाश होता है और अच्छे बैक्टीरिया मुँह मे रहके दांतो को सुरक्षित रखेंगे| 
  • कैविटी दूर करने के उपाय करते समय अगर बहुत मीठा खाना है बच्चे को तो एक मुटठी भर किशमिश दे क्योंकि इस मे रहे पॉलीफेनोल्स और फ्लेवोनॉइड बैक्टीरिया का नाश करते है| 
  • कैविटी से बचने के उपाय करने के लिए बच्चे को च्युइंग गम दे क्योंकि च्युइंग गम से थूक का उत्पादन होता रहता है और बैक्टीरिया का फैलाव रुक जाता है| 
  • बच्चों को अलग अलग चीज़ खाने का प्रयोग करने का शौख होता है तो क्यों ना उसे दालचीनी का छोटा टुकड़ा दे - स्वादिष्ट है और दांतो को सुरक्षित भी रखता है| 

कैविटी के घरेलू उपाय के साथ करे दांतो की संभाल – How to remove cavity from teeth naturally in hindi

दांतो की देखभाल भी करना बहुत ज़रूरी है क्योंकि दांतो मे सड़न और कैविटी स्वस्थ संबंधित समस्या का मूल है| जानिए नुस्खे दांतो मे तकलीफ़ हो तो कैसे घर पर दांतो का इलाज करे| 

  • अपने बच्चे के मुँह की परीक्षण करते रहे| 
  •  सूजन या दर्द हो तो लौंग का तेल और दालचीनी के तेल का मिश्रण करे और एक बूँद टी ट्री आयल मिलके रुई को भिगो के दाँत और मसूड़ों पर घिसे तो बैक्टीरिया का नाश होगा और दर्द कम होगा| 
  • फिटकरी को पीस के उसमे हल्दी मिला के बच्चे को दाँत मंजन करने को कहे या तो फिटकरी को पानी मे घोल के कुल्ला करने की आदत डाले| 
  • दांतो के अंदर कीटाणु हो जाना मामूली बात है और इन कीटाणुओं को नाश करने के लिए हींग और लोंग के तेल का मिश्रण दाँत और मसूड़ों पर मालिश करे| 
  • दाँत को हल्दी, फिटकरी और सरसों के तेल के मिश्रण से बच्चों के दांतो को ब्रश करे हफ्ते मे 2 बार, कम से कम|
  • दांतो को सॉफ और कीटाणु मुक्त बनाने के लिए नमक से ब्रश करना उचित है| 
  • बच्चे के दाँत पीले पढ़ जाए तो बेकिंग पाउडर से ब्रश करवाए तो सफेद हो जाएँगे और कीटाणुओं का भी नाश होगा|  

माताए अपने लाड़ले को बाहर से सफाई करके सुंदर बनाए रखती है मगर मुँह की स्वच्छता इतनी ही ज़रूरी है| लापरवाही से दांतो मे कैविटी और सड़न होती है जिस के कारण पेट संबंधी और कानो मे संक्रमण होने की संभावना है| बचपन मे बच्चों को दांतो की सफाई करना सिखाए और उन को लंबी उमर तक मजबूत दांतो के साथ स्वास्थ्य का गिफ्ट दे|

TAGS: #cavity ka upchar #cavity ke gharelu upay #cavity dur karne ke upay #कैविटी के लिए घरेलू उपचार #cavity ka ilaj in hindi #cavity in teeth meaning in hindi #dant ke keede ka gharelu upchar #tooth cavity in hindi #how to remove cavity from teeth naturally in hindi #teeth problems home remedies in hindi #ayurvedic treatment dental problems

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

10 Comments

रमेश दहिया, Nov 24, 2017

दाँतों में कीड़ा लग जाने के बाद इसकी की कोई घरेलू दवा के बारे में बताएँ जिससे कि घर पर हम अपने दातों का इलाज कर सकें|

सीमा गोस्वामी , Sep 27, 2017

मेरे भाई के दाँत बहुत पीले हैं ऐसा कियूं है और केविटीज लगने का कारण किया होता है प्लीज़ मुझे सब कुच्छ विस्तार से बताएँ?

Maariya , Sep 26, 2017

Whatever you written in your article that was awesome and also easily understandable and help me to know more about cavities.

रुखसाना , Sep 21, 2017

आपके दुवारा बताए गये दातों में से केविटी हटाने के तरीके कमाल के लिखे हुए हैं साथ ही अगर हम ब्लीचिंग पाउडर का यूज भी कर सकते हैं ये कमाल के आर्टिकल हैं|

जीवन, Sep 19, 2017

लहसुन, प्याज, लोंग, नींबू, कालीमिर्च आदि का उपयोग करके आप अपने दातों को केविटीज से बचा सकते हैं साथ ही आपका यह वाला आर्टिकल जो कि दातों को केविटीज से कैसे बचाएँ भी सच में हि कमाल का लिखा हुआ है|

Abhishek, Sep 16, 2017

Mere Daanto me dard Hota hai roz or masudho me se kabhi kabhi khoon bhi niklata hai kya aap mujhe koi aisa ghar ka nuskha btayenge jisse mere daanto ka dard or masudho se nikalne wala khoon band ho jaaye.

अधिरा, Sep 13, 2017

मेरी बची के दाँतों में कैविटी हो गई है जिसके वजह से उसे बहुत पेन हो रहा है लेकिन वो डाक्टर के पास जाने से डरती है प्लीज़ सजेस्‍ट करें क्या इन नुस्खो से वो ठीक हो जाएगी? प्लीज़ बताएँ

Ashna Maavi , Sep 12, 2017

mere dant bahut peeley hain inko white karne ka tarika bataie aur please koi toothpaste bataie jo sabse achcha hai aur danto ko sensitive hone se bachae

 

sejal , Sep 15, 2017

agar apke daant pile hogae hai, to apko namak aur sarso ke tel se massag karni chaiye aise niyamit karne se apke daant safed aur ek dum taro taza hojaege

सीमा , Sep 02, 2017

दाँतों की केविटी से कैसे छुटकारा पाएँ ये एक गंभीर समस्या है आज कल छोटे छोटे बचों में मीठा खाने की वजह से ये बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई है यह प्रशन सबको परेशान करता है की दाँतों की केविटी कैसे दूर करें यहाँ बताए गए घरेलू इलाज से ये काफ़ी हद तक ठीक हो जाता है\ थैंक्स फार शेयरिंग

सुनील कुमार, Aug 28, 2017

होम रिमेडीज क्या हैं टीथ केविटीज यानी की दाँत के कीड़े का इलाज इसका सम्पुर्ण फार्मूला चाहिए कोई बढ़िया सा टिप्स तो ज़रूर ही शेयर कर दें