दालचीनी के फायदे और नुकसान - Dalchini (Cinnamon) Benefits and Side Effects in Hindi

दालचीनी के फायदे और नुकसान - Dalchini (Cinnamon) Benefits and Side Effects in Hindi

दालचीनी के फायदे और नुकसान - Dalchini (Cinnamon) Benefits and Side Effects in Hindi: सबसे पहले जाने दालचीनी किसे कहते है ? (what is cinnamon in hindi)  दालचीनी एक मसाला है जो कि सिनमोमम वीरम (Cinnamomum verum) वंश के अनेक प्रकार के पेड़ों की प्रजातियों/उपजातियों की अंदरूनी भूरे रंग की छाल से प्राप्त किया जाता है। यह बाज़ार में चूर्ण/पाउडर अथवा ट्यूब  के  आकार की नलियों में सहजता से उपलब्ध हो जाता है। दालचीनी को मुख्यत: विविध प्रकार के खाद्य पदार्थों और व्यञजनों का स्वाद बढ़ाने के किए उपयोग में लाया जाता है। इसमें एक प्रकार की सुगंध मौजूद होती है जो इसे गर्म मसालों की श्रेणी में रखती है। इसमें में पानी, फ़ाइबर (fiber), कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate), प्रोटीन (protein) और वसा (fat) उपयुक्त मात्रा में पाया जाता है।

दालचीनी के फायदे - Benefits of Cinnamon in Hindi

  • दालचीनी रोज़ चबाए और हकला पन दूर करे। 
  • दालचीनी वीर्यवर्धक औषधि है।
  • दालचीनी पेट की गैस से छुटकारा दिलाए ।
  • दालचीनी और शहद पिए और पित्त की पथरी से छुटकारा पाए।
  • दालचीनी कब्ज में आराम दिलाए।
  • दालचीनी अपच ठीक करे।
  • दालचीनी खाँसी में आराम दिलाए। 
  • दालचीनी दमे में आराम दिलाए।
  • दालचीनी मूत्राशय के संक्रमण को दूर करे ।
  • दालचीनी दाँत के दर्द में आराम दिलाए।

1. दालचीनी के प्रभाव - Effects of Cinnamon in Hindi
2. दालचीनी के अन्य भषाओं में विभिन्न नाम - Cinnamon Meaning in Other Languages in Hindi
3. दालचीनी के फायदे  - Dalchini Ke Fayde in Hindi

4. दालचीनी के नुकसान - Dalchini Ke Nuksan In Hindi

दालचीनी के प्रभाव - Effects of cinnamon in hindi

दालचीनी के लाभ इसकी उपयोगी छाल में पाए जाने वाले तेल के गुणकारी प्रभावों के कारण हैं। इन तेलों में सिनमल्डिहाइड (Cinnamaldehyde), सिनमाइल एसिटेट (Cinnamyl acetate) और सिनमाइल एल्कोहल (Cinnamyl alcohol) नामक सक्रिय घटक होते हैं जो दालचीनी को जीवाणुरोधी (antibacterial), एंटीफ़ंगल (antifungal) और एंटीवायरल (antiviral) स्वरूप प्रदान करते हैं। दालचीनी का सेवन करने से वैसे तो कई स्वास्थ्य–लाभ हैं, जिनमें कुछ महत्वपूर्ण–मधुमेह पर नियंत्रण, पाचन तंत्र को मज़बूती, अनिद्रा से मुक्ति, प्रतिरक्षा तंत्र को दृढ़ता, हड्डीयों को सघनता, मसूड़ों को स्थायित्व एवम् बालों तथा त्वचा सम्बंधी समस्या से निदान सम्मिलित हैं। दालचीनी की लगभग 100 किस्में पाई जाती हैं। इसका स्वाद ऊष्म होता है।

दालचीनी के अन्य भषाओं में विभिन्न नाम - Cinnamon meaning in other languages in hindi

दालचीनी को असमिया–बंगाली में दालचीनी, हिंदी में नागकेसर, गुजराती में तुज, कन्नड़ में लवंगपट्टा / चक्के, सिन्हली में कुरुंडु, तमिल–मलयालम में इलवंगम / करुवा, उर्दू में दार चीनी, ओडिया में दालोचीनी, संस्कृत में दारुसिता, तेलुगु में दासिनी चेक्का, जर्मन में ज़िम्ट, अरबी में कुर्फ़ा और स्वहीली में म्दाल्सिनी कहा जाता है।

सम्बंधित जानकारी

दालचीनी के फायदे  - Dalchini ke fayde in hindi

दालचीनी पाउडर के फायदे खाँसी में - Dalchini powder benefits for cough in hindi

  • दालचीनी पाउडर बाज़ार में सहजता से उपलब्ध हो जाता है अथवा इसे खड़ी दालचीनी को पीसकर घर में ही तैयार किया जा सकता है। इसके लिए, खड़ी दालचीनी के छोटे–छोटे टुकड़े करके उन्हें ग्राइंडर मशीन में बारीक पीस कर दालचीनी का पाउडर अथवा चूर्ण प्राप्त किया जा सकता है।
  • हल्के गर्म शहद के साथ एक चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर का तीन–चार दिनों तक लगातार सेवन करने से गम्भीर खाँसी में त्वरित लाभ प्राप्त होता है।
  • शहद और दालचीनी पाउडर के मिश्रण से सर्दी–खाँसी और साइनस जैसे जीर्ण रोग में भी अप्रत्याशित स्वास्थ्य–लाभ मिलता है।
  • दालचीनी का मूल स्वाद थोड़ा कड़वा होता है और गर्म–मसाला होने के कारण इसे खाने से श्वास–नली या गले में जलन भी महसूस होती है इसीलिए इसे शहद के साथ लेना बेहतर होता है। दालचीनी–शहद के मिश्रण का सेवन, नींबू के रस के साथ भी किया जा सकता है। सोने से ठीक पहले इस मिश्रण को खाने और खाने के बाद अन्य किसी भी पेय पदार्थ (जैसे पानी) का सेवन ना करने से शीघ्र लाभ मिलता है।

( और पढ़े - जानिए दादी माँ के नुस्खे खासी को जड़ से खत्म करने के लिए )

दालचीनी के गुण लिवर के लिए - Cinnamon for liver in hindi

  • दालचीनी/दालचीनी पाउडर, लिवर अथवा यकृत सम्बंधी गम्भीर समस्याओं का समाधान करके, रोगी व्यक्ति को स्वास्थ्य–लाभ देने में सक्षम है। बढ़ कर असामान्य हुए लिवर इंज़ाइम (liver enzyme) हों या इंसुलिन प्रतिरोधकता (insulin resistivity), दालचीनी इन जैसी शारीरिक विसंगति को दूर करने में सहायक है।
  • फ़ैटी या वसाग्रस्त लिवर की स्थिति में दालचीनी का उपयोग अत्यंत लाभदायी है। यह शरीर की इंसुलिन के प्रति सम्वेदनशीलता को बढ़ा देता है जिससे लिवर इंसुलिन का कम उत्सर्जन करता है और फ़ैट जमा होने से बचा जा सकता है।
  • लिवर सम्बंधी परेशानी से शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव (oxidative stress) भी होता है। दालचीनी के उपयोग से लिवर में मौजूद फ़ैट/वसा को मुक्त कणों (free radicals) से होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है।
  • दालचीनी/दालचीनी पाउडर में उपस्थित एंक्सीडेंट्स (antioxidants), वसायुक्त लिवर और ऑक्सीडेटिव तनाव के कारण उत्पन्न सूजन (inflammation) को भी कम करने में लाभकारी सिद्ध होते हैं।

( और पढ़े - लिवर के रोगियों के लिए अमृत है एलोवेरा जूस )

दालचीनी का उपयोग उच्च रक्तचाप के लिए - Cinnamon for High blood pressure in hindi

  • दालचीनी का उपयोग, शारीरिक रक्त परिसंचरण (blood circulation) में लाभ देता है, जिससे उच्च रक्तचाप की समस्या का निदान होता है। इसमें मौजूद कैल्शियम, रक्त वाहिकाओं (blood vessels) के बीच खिंचाव और संकुचन में मध्यस्थ की भूमिका निभाता है।
  • कूमरिन (Coumarin) नामक एक रासायनिक यौगिक की मौजूदगी के कारण, दालचीनी के गुण में रक्त को पतला करने की क्षमता निहित होती है।
  • दालचीनी / दालचीनी पाउडर का सेवन करने से रक्त धमनियों और नसों में LDL कोलेस्टेरॉल (cholesterol) और ट्राइग्लिसराइड (triglyceride) स्तर में सुधार होता है जिससे उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण प्राप्त होता है।

( और पढ़े - हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के उपाय )

दालचीनी के औषधीय उपयोग मधुमेह ग्रस्त रोगियों के लिए - Dalchini for diabetes in hindi

  • टाइप–2 मधुमेह रोगियों के लिए दालचीनी का सेवन अत्यंत लाभदायक है। कई औषधीय अनुसंधानों से यह सिद्ध हो चुका है कि दालचीनी में वह घटक सम्मिलित हैं जो रक्त में शुगर / शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के साथ उसे सुधारने में भी सहायक हैं।
  • एक चिकित्सकीय निष्कर्ष से यह जाना गया कि दालचीनी का नियमित रूप से मात्र 1–6 ग्राम तक या डेढ़ छोटा–चम्मच की मात्रा का सेवन भी टाइप–2 मधुमेह रोगियों के रक्त में मौजूद ग्लूकोस स्तर, कोलेस्टेरॉल स्तर (cholesterol level), आदि को नियंत्रित करने में सहायक है।
  • इतना ही नहीं, दालचीनी का उपयोग सीरम ग्लूकोस (serum glucose), ट्राइग्लिसराइड (triglyceride) और LDL को घटा कर मधुमेह ग्रस्त शरीर की इंसुलिन सम्बंधी सम्वेदनशीलता (insulin related sensitivity) को भी बढ़ाता है।

( और पढ़े - डायबिटीज को जड़ से ख़त्म कर देंगे यह घरेलु उपाय )

दालचीनी के लाभ वज़न कम करने के लिए - Dalchini for weight loss in hindi

  • स्वास्थ्य सम्बंधी अधिकांश समस्याएँ, अत्यधिक वज़न या मोटापे के कारण होती हैं। चिकित्सीय विशेषज्ञों के अनुसार, दालचीनी  के उपयोग से बढ़े हुए वज़न पर नियंत्रण के साथ – साथ उसे घटाने में भी मदद मिलती है।
  • दालचीनी के औषधीय गुण में एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) मौजूद होने के कारण, यह शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकाल कर वज़न पर नियंत्रण देता है। शहद, नींबू और दालचीनी के समानुपतिक मिश्रण के सेवन से वज़न घटाने में सहायता होती है।
  • खड़ी दालचीनी को पानी में उबालकर, उसमें कालीमिर्च पाउडर या अदरक या इलायची डालकर उसका पानी पीने और नियमित सेवन से बढ़े हुए वज़न में घटाव पाया जा सकता है।

( और पढ़े - तेजी से वजन घटाने के सरल घरेलु उपाय )

दालचीनी का सेवन स्वस्थ मस्तिष्क के लिए - Cinnamon benefits for healthy brain in hindi

  • दालचीनी खाने से मस्तिष्क में बोध और संज्ञान सम्बंधी गुणों में सुधार होता है और उसके सतर्कता के स्तरों में वृद्धि होती है। दालचीनी में मौजूद कुछ विशेष रासायनिक अवयव (chemical components) मस्तिष्क की क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि करते हैं।
  • पार्किंसंस (Parkinson’s) जैसी अति–गम्भीर बीमारी से ग्रस्त रोगियों के लिए दालचीनी का सेवन अत्यंत लाभप्रद है। यह शरीर में डोपामीन (Dopamine) उत्पन्न करने वाले तंत्रों की रक्षा करके नसों की कार्यक्षमता को सुदृढ़ करता है। नसों के सुदृढ़ीकरण से डोपामीन सामान्य मात्रा में उत्सर्जित होना शुरु हो जाता है जिससे हृदयाघात (heart attack), किडनी–विफलता (kidney failure), हृदय–विफलता (heart failure), मानसिक आघात (trauma), इत्यादि दिक्कतों से समय रहते रोक–थाम और ऐसी स्थिति/स्थितियाँ प्रकट होने पर उसके/उनके निवारण में सहायता मिलती है।
  • दालचीनी / दालचीनी का पाउडर, मैंगनीस (Manganese) जैसे एंटीऑक्सीडेंट का भी अच्छा स्रोत है जो मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ा कर स्मरण शक्ति को तीव्र करने में सहायक है।

 ( और पढ़े - अखरोट के फायदे दिमाग को तेज़ रखने के लिए )

दालचीनी के औषधीय गुण स्वस्थ हृदय के लिए - Cinnamon good for healthy heart in hindi

  • दालचीनी / दालचीनी पाउडर का उपयोग, हृदय–सम्बंधी रोगों जैसे हृदयाघात के होने की सम्भावना को कम करता है और हृदय लम्बे समय तक स्वस्थ रहता है। दालचीनी के उपयोग से हाइपरलिपिडीमिया (hyperlipidemia) जैसी परिस्थितियों से बचाव होता है।
  • दालचीनी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, हृदय को रक्त कोशिकाओं में होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव (oxidative stress) को बहुत हद तक कम करते हैं।
  • दालचीनी का उपयोग करने से LDL कोलेस्टेरॉल के स्तर में भी कमी पाई जाती है जिससे लिपिड प्रोफ़ाइल (lipid profile) में सुधार आता है।
  • दालचीनी के रासायनिक घटकों में सम्मिलित सिनमल्डिहाइड (cinnamaldehyde), रक्त वाहिकाओं (blood vessels) को फ़ैला कर (vasodilation) उच्च रक्तचाप को सामान्य करता है।

( और पढ़े - जानिए कैसे अनारदाना है फायदेमंद ह्रदय के लिए )

कॉलन के लाभ हेतु दालचीनी के नुस्खे - Dalchini benefits for colon in hindi

  • दालचीनी फ़ाइबर (dietary fiber), कैल्शियम (calcium) और मैंगनीज़ (manganese) जैसे महत्वपूर्ण खनिज पदार्थों का एक अच्छा स्रोत है। कैल्शियम और फ़ाइबर से बृहदांत्र (colon) की कार्यक्षमता में प्रभावी सुधार सम्भव है।
  • फ़ाइबर और कैल्शियम, पित्त लवण (Bile salts) को पाचन क्रिया के माध्यम से शरीर से बाहर निकालने में सहायता करते हैं। इससे कॉलन की कोशिकाओं को नुकसान से बचा कर, कॉलन कैंसर (colon cancer) जैसी गम्भीर अवस्था से अपना बचाव किया जा सकता है।
  • दालचीनी में निहित सिनमल्डिहाइड (cinnamaldehyde), कॉलन की कोशिकाओं को विषाक्त पदार्थों से मुक्ति दिला कर (detoxification) और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को मज़बूती प्रदान करके, कैंसर से बचाता है।
  • दालचीनी में एक अन्य पदार्थ – यूजिनॉल (Eugenol) पाया जाता है, जिसमें दर्दनाशक (analgesic) और रोगाणुरोधक (antiseptic) विशेषताएँ पाई जाती हैं। यह आँतों में होने वाली ऐंठन, मरोड़ एवम् दर्द जैसी अन्य गस्ट्रो – इंटेस्टाइनल (Gastro – Intestinal or GI) समस्याओं का त्वरित समाधान करके उन्हें समाप्त करता है।

दालचीनी के फायदे कैंसर में - Cinnamon ke fayde for cancer in hindi

  • दालचीनी एक ऐसी चमत्कारी औषधि है जिसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) हैं जो कि कैंसर की रोकथाम में अत्यंत प्रभावशाली है। दालचीनी के नियमित सेवन से कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाएँ नष्ट होती हैं एवम् उन्हें शरीर के अन्य हिस्सों में फ़ैलने से रोका जा सकता है।
  • दालचीनी के औषधीय गुण में एंटी-ट्यूमर घटक शामिल हैं जो एक प्राकृतिक कैंसर – निवारक औषधि की तरह कार्य करते हैं और शरीर की कोशिकाओं के DNA में होने वाले नुकसान से बचाते हैं।
  • विभिन्न प्रकार के कैंसर जैसे सर्वाइकल कैंसर (cervical), प्रोस्टेट कैंसर (prostate), कॉलन कैंसर (colon), आदि में दालचीनी के सेवन से महत्वपूर्ण और अत्यंत प्रभावी लाभ होता है।

( और पढ़े - सिर्फ 45 दिनों में कैंसर होगा ख़त्म जानिए कैसे )

दालचीनी की चाय के फायदे रक्तसंचार के लिए - Cinnmon good for blood circulation in hindi

  • दालचीनी में मौजूद सिनमल्डिहाइड (cinnamaldehyde) रक्त धमनियों का खिंचाव कम करके तथा उन्हें फ़ैला कर, दबाव – रहित रक्त – परिसंचरण को सुनिश्चित करता है।
  • दालचीनी के गुण, कोलेस्टेरॉल और फ़ैट को नियंत्रित तथा रक्त वाहिकाओं (blood vessels) में निर्बाध रक्त – प्रवाह को सुचारु बनाए रखते हैं।
  • दालचीनी में कूमरिन (Coumarin) नामक एक यौगिक मौजूद होता है जो रक्त को पतला करता है और उसके सुचारु परिसंचरण को सम्भव बनाता है।

( और पढ़े - जानिए कैसे गर्म पानी है फायदेमंद रक्तसंचार के लिए )

दालचीनी के औषधीय गुणों से आँख की मैक्युला के बिगड़ने का इलाज - Cinnamon stick for degeneration in hindi

  • दालचीनी आँखों को होने वाली बीमारी AMD या ARMD (Age-Related Macular Degeneration) की रोक–थाम में सहायक है।
  • दालचीनी में मौजूद रासायनिक अवयव, आँखों में होने वाली दृष्टिबधिता या दृष्टिहीनता जैसी स्थितियों के निवारण हेतु अत्यंत लाभदायक हैं।
  • इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स की प्रचुर मात्रा, इसे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलने में सक्षम हैं जो आँखों को स्वस्थ रखने में मददगार हैं।

( और पढ़े - जानिए आखों की रौशनी बढ़ने के उपाय )

दालचीनी का उपयोग उच्च कोलेस्टेरॉल स्तर में कमी के लिए - Dalchini for high colestrol in hindi

  • दालचीनी में LDL कोलेस्टेरॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को निम्न स्तर पर रखने की क्षमता होती है।
  • दालचीनी मैं मौजूद अति–सक्रिय घटक, रक्त–शर्करा समबन्धी चयापचय (metabolism) की गति को 20 गुना तक बढ़ा देते हैं।
  • कोलेस्टेरॉल स्तर को नियंत्रित करने और लिपिड प्रोफ़ाइल को स्वस्थ रखने के लिए नियमित मात्रा में दालचीनी का सेवन आवश्यक है।

( और पढ़े - ग्रीन टी से करे कोलेस्ट्रॉल का शमन )

दालचीनी के लाभ श्वसन तंत्र के संक्रमण पर - Cinnamon benefits for the respiratory system in hindi

  • दालचीनी के गुण, सामान्य सर्दी और इंफ़्लुएंज़ा को ठीक करने में बहुत कारगर है।कण्ठशोथ (ulcerative colitis) की स्थिति में भी दालचीनी पाउडर का सेवन त्वरित लाभ देता है।
  • सामान्य खाँसी में भी शहद और दालचीनी पाउडर का मिश्रण तुरंत राहत पाने के लिए अत्यंत लाभदायी है।

( और पढ़े - सर्दी जुकाम का रामबाण इलाज )

दालचीनी और शहद के फायदे गठिया के उपचार के लिए - Cinnamon and honey benefits for arthiritis in hindi

  • आधा चम्मच दालचीनी पाउडर को एक चम्मच शहद के साथ, सुबह-शाम नियमित रूप से लेने पर गठिया के दर्द से मुक्ति मिलती है। यह दालचीनी के नुस्खों में से एक है।
  • दालचीनी की छाल में दाह्य-रोधक गुणों के कारण गठिया के जोड़ों वाले दर्द में लाभ मिलता है।
  • क्षतिग्रस्त हड्डियों के पुनर्निर्माण और उनमें सघनता लाने के लिए दालचीनी का पाउडर अत्यंत लाभदायी है।

( और पढ़े - गठिया के दर्द के कुछ सरल घरेलु उपाय )

दालचीनी और गर्म पानी के लाभ - Cinnamon and hot water benefits in hindi

  • खड़ी दालचीनी को गर्म पानी में डाल कर कुछ देर रखने और बाद में उसे छान कर पीने से वज़न घटाने में सहायता मिलती है।
  • दालचीनी के नुस्खे में, इसको थोड़े शहद और गर्म पानी के साथ मिलाकर चाय की तरह भी प्रयोग कर सकते हैं।
  • गर्म पानी के साथ दालचीनी लेने से रक्तचाप सामान्य रहता है और हृदय सम्बंधी परेशानियाँ दूर रहती हैं। 

( और पढ़े - गर्म पानी के फायदे )

दालचीनी और दूध के फायदे - Cinnamon milk benefits in hindi

  • दालचीनी दूध एक प्राकृतिक दर्दनिवारक है जो शीघ्र ही विभिन्न प्रकार के दर्द में लाभ देता है।
  • दालचीनी दूध के सेवन से अनिद्रा की समस्या का भी समाधान होता है।
  • दालचीनी दूध के नियमित सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है।

 ( और पढ़े - दालचीनी दूध के फायदे और नुकसान )

सर्दी-ज़ुकाम के लिए दालचीनी का उपयोग - Dalchini uses for cold and cough in hindi

  • दालचीनी को हल्के गर्म पानी और शहद के साथ लेने पर सर्दी-ज़ुकाम से राहत मिलती है।
  • दालचीनी में साइनस की दिक्कत से भी लाभ मिलता है; यह साइनस की सूजन को कम करता है।
  • इंफ़्लुएंज़ा या फ़्लू के निवारण के लिए भी दालचीनी अत्यंत लाभप्रद है।

( और पढ़े - सर्दी जुकाम का रामबाण इलाज )

दालचीनी पाउडर के फायदे त्वचा रोगों में - Dalchini powder benefits for skin problems in hindi

  • त्वचा के दाग, धब्बे और मुहाँसों को दूर करने में दालचीनी के नुस्खे घरेलू औषधि हैं।
  • दालचीनी में मृत कोशिकाओं को हटाकर, त्वचा को उसकी प्राकृतिक चमक देने के गुण मौजूद हैं।
  • इसके एंटीऑक्सीडेंट्स त्वचा से विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर उसे स्वस्थ बनाए रखते हैं।

( और पढ़े - त्वचा की देखभाल के आसान और असरदार उपाय  )

दालचीनी के सेवन से पेट की समस्या का निदान - Dalchini ke fayde for stomach problems in hindi

  • दालचीनी के लाभ से उदर / पेट की गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (Gastrointestinal) विकार में त्वरित लाभ मिलता है।
  • यह पाचन तंत्र को सुदृढ़ रखता है और पेट की ऐंठन या मरोड़ से आराम देता है।
  • दालचीनी पेट की सूजन कम करता है और ई.कोलाई (E. coli) बैक्टीरिया के दुष्प्रभावों से बचाव करता है।

( और पढ़े - जाने सभी पेट की समस्या के असरदार उपाय  )

दालचीनी का तेल के फायदे बहरापन दूर करने के लिए  - Dalchini oil for deafness in hindi

  • दालचीनी पाउडर का शहद के साथ समानुपातिक सेवन करने से बहरेपन में सुधार आता है।
  • यह कान की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं का पुनर्निर्माण करता है।
  • दालचीनी, श्रवण-शक्ति को हो चुके नुकसान को रोक कर, उसमें आगे किसी क्षय (deterioration) को होने से बचाती है।

दालचीनी के नुकसान - Dalchini ke nuksan in hindi

जाने दालचीनी के अधिक सेवन से नुकसान व हानि : -

दालचीनी के नुकसान - Dalchini side effects in hindi 

दालचीनी के लाभ हैं तो अधिक मात्रा में सेवन के स्वास्थ्य सम्बंधी कुछ विपरीत प्रभाव दालचीनी से हानि भी हैं जो कि निम्नलिखित है: -

  • गर्भवती महिलाओं को दालचीनी के उपयोग से बचना चाहिए; यह सर्जरी के बाद अत्यधिक रक्त्स्त्राव (post-surgery bleeding) का कारण बन सकता है।
  • अत्यधिक सेव से रक्त शर्करा (blood sugar) की मात्रा कम हो सकती है।
  • अधिक सेवन से लिवर और किडनी को नुकसान हो सकता है।
  • दालचीनी ज़्यादा खाने से मुँह के छाले बढ़ सकते हैं।
  • अधिक सेवन से रक्तचाप निम्न स्तर पर जा सकता है।
  • दालचीनी के अधिक सेवन से रक्त में ग्लूकोस का स्तर बहुत कम हो सकता है जो मधुमेह रोगियों के लिए घातक है।
  • दालचीनी विभिन्न प्रकार के रसायनों (chemicals) से मिलकर विपरीत प्रभाव डाल सकता है; जो कोई व्यक्ति दवाइयों के रूप में पहले से ले रहा हो।

दालचीनी, उसका तेल, उसका पानी और दूध; सभी स्वास्थ्य सम्बंधी अनेक रोगों को दूर करने में लाभदायक हैं लेकिन इनका उपयोग निश्चित और सीमित मात्रा में करने से पूर्ण स्वास्थ्य – लाभ की प्राप्ति की जा सकती है। दालचीनी हर रूप में अत्यंत लाभकारी है|

TAGS: #what is cinnamon in hindi #dalchini/cinnamon in hindi # dalchini ke side effect in hindi #cinnamon stick in hindi #dalchini tel/plant/oil #dalchini oil patanjali #dalchini powder #dalchini in english #dalchini ke fayde aur nuksan #dalchini benefits hindi #dalchini uses

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

2 Comments

Shakti, May 07, 2018

dalchini ke fayde bahut sare hai humare shareer ke lie enhe humein roz ki khan pan ka hissa zarror banana chahie.

ruchi, Apr 27, 2018

dalchini ke fayde bahut badiya hai

Loading...