लेजर तकनीक से पाएं दाग-धब्‍बे रहित खूबसूरत त्‍वचा

लेजर तकनीक से पाएं दाग-धब्‍बे रहित खूबसूरत त्‍वचा

Daag dhabbe door karne ka laser treatment in hindi (लेज़र ट्रीटमेंट): त्वचा पर घाव और दाग धब्बे से रह जाते है निशान जिसे निकालने के लिए कई ऐसे उपाय है | एक है घरेलू उपाय प्राकृतिक सामग्री के उपयोग द्वारा जिस से यह दाग धब्बे धीरे से मिट जाते है| दूसरा तरीका है dermabrasion जिस से त्वचा को घिसा जाता है| एक और तरीका है केमिकल पीलिंग जिस से केमिकल के उपयोग से काले दाग धब्बे वाले जगह की त्वचा को पिघलाया जाता है और इस से नयी त्वचा उत्पन्न होने मे आसानी रहती है| सब से तेज़ तरीके है लेज़र टेक्नीक  जिस से दाग धब्बे और स्कार्स हटाए जा सकते है| यह लेज़र क्या है और कैसे काम करता है? लेजर के उपयोग? क्या इस से सच मे असर होता है? पढ़िए लेजर उपचार, लेज़र टेक्नीक से दाग धब्बे से छुटकारा कैसे पाए और त्वचा को खूबसूरत बनाए| 

लेज़र क्या है?

लेज़र मे लाइट के किरणों के ऐसे कंट्रोल किया जाता है की एक पतली सी किरण के रूप मे निकलता है और यह लाइट coherent होने के वजह से बहुत पावरफुल होता है| इस का बिंदु बहुत छोटा होता है मगर बहुत तेज होता है| लेज़र अलग प्रकार के होते है और अलग काम मे लिए जाते है| स्किन ट्रीटमेंट मे ablation और non-ablation टाइप लेज़र है, फ्रैक्शनल लेज़र ट्रीटमेंट है डैमेज स्किन के लिए, laser resurfacing technique है जिस से एक्ने और चिकेनपॉक्स (चिकेनपॉक्स) से रह गये खड्डे वग़ैरह को स्मूद किया जाता है और स्कार्स के लिए sciton erbium  लेज़र है जिस से स्कार्स को मिटाया जाता है, बड़े पोर्स को छोटा किया जाता है और स्किन स्मूद हो जाती है| लेज़र से अनचाहे बालो को भी निकाला जाता है बाल को जड़ मूल से जला के| लेज़र से रिंकल्स भी निकाला जाता है और त्वचा को स्मूद बनाया जाता है|

लेज़र कैसे काम करता है?

Laser treatment in hindi: लाइट याने प्रकाश मे भी उर्जा होती है| लेज़र मे लाइट वेव्स कोहेरेंट होने से बहुत नैरो बीम बनता है और सभी उर्जा को एक बारीक स्पॉट कर केंद्रित करने की क्षमता होती है| 

  • सूर्या किरण से डैमेज और एजिंग स्पॉट्स हो तो लेज़र की किरण त्वचा के गहराई मे प्रवेश कर के पिगमेंट सेल्स को नाश करती है मगर बाहर से त्वचा को नुकसान नहीं होता है| इस ट्रीटमेंट से कॉलेगेन के उत्पादन को प्रोत्साहन मिलता है और त्वचा हरा भरा होने लगता है| 
  • लेज़र रिसरफेसिंग मे नुकसान हुआ बाहर का लेयर, रिंकल्स, दाग धब्बे को लेज़र किरण द्वारा vaporise  किया जाता है मगर भीतर की कोशिका को नुकसान नहीं होता है| यह कार्बन डाइयाक्साइड इंफ़्रा रेड लेज़र से किया जाता है या तो erbium लेज़र से| त्वचा का उपर का लेयर लेज़र किरणों से जला दिया जाता है और नयी कोशिका का निर्माण होता है| इस प्रोसेस मे erbium लेज़र ट्रीटमेंट से नुकसान कम होता है| 
  • जवान दिखने के लिए स्किन टाइटनिंग भी लेज़र से किया जाता है जिस मे लेज़र के किरण कॉलेगेन टिश्यूस को गरम कर देते है और त्वचा जो ढीली हो गयी है वो संकुचित हो जाती है और चेहरा जवान दिखता है| 
  • Intense pulsed light  लेज़र ट्रीटमेंट मे लेज़र के किरण को पल्सिंग किया जाता है और यह दाग धब्बे निकालने मे कारगर होता है क्योंकि सिर्फ़ काले दाग पर यह पल्सेस को फोकस किया जाता है और वो काली त्वचा को जला के नये कोशिका के निर्माण के लिए काम करता है| 

ध्यान मे रखे

कोई भी लेज़र ट्रीटमेंट किया हो त्वचा पर तो वो जगह थोड़े दीनो तक लाल हो जाता है और फिर रंग बदल जाता है| करीब एक से दो हफ्ते लग जाते है| इसीलिए इस दौरान धूप मे ना जाए और स्किन क्रीम और सूदिंग, emollient  और मॉइस्चरीसिंग क्रीम का इस्तेमाल करे| धूप मे जाने से बचे और सनस्क्रीन लगाए|

लेज़र टेक्नीक या कहे लेजर उपचार तब सफल होता है जब इस का टेक्नीशियन एक्सपर्ट हो| अगर ग़लत व्यक्ति ने कुशलता से काम नहीं किया तो सुधारने के बदले हालत बिगड़ ने की संभावना भी है इसीलिए लेज़र क्लिनिक सोच समझ के चुने| लेज़र ट्रीटमेंट मे सिर्फ़ एक ट्रीटमेंट से काम नहीं बनता है| दो-टीन या ज़्यादा बार ट्रीटमेंट करवाना पड़ता है| लेज़र स्किन ट्रीटमेंट सफल तो है मगर महंगे भी है| लेज़र ट्रीटमेंट का सोचे इस से पहले अन्य घरेलू या और उपाय आजमा के देखे | 

लेज़र स्किन ट्रीटमेंट का सोचते हो तो पहले डरमेटॉलजिस्ट को कन्सल्ट करे और फिर लेज़र क्लिनिक मे भी एक्सपर्ट की राय ले| वो स्किन को चेक करेंगे और फिर बताएँगे की इस पर लेज़र ट्रीटमेंट सक्सेस होगा या नहीं | 

लेज़र ट्रीटमेंट मे बेहोश नहीं किया जाता है मरीज़ को मगर जिस जगह पर लेज़र चलना होता है उस जगह पर लोकल एनेस्थेटिक लगा देते है| अगर पूरे  चेहरे को ट्रीट करना होता है तो बेहोश किया जाता है| यह एक प्रोसेस करीब एक घंटे तक चलता है और इस के बाद मरीज़ अपने घर जा सकता है| 

.......और पढ़े>>

TAGS: #laser treatment for brown spots on face in hindi #लेजर के उपयोग #लेजर उपचार #लेसिक लेजर सर्जरी #लेज़र ट्रीटमेंट #laser treatment in hindi #chehre ke daag dhabe door karna in hindi

Loading...

Leave a Comment

Your Name

Comment

6 Comments

Geeta Singla , Nov 06, 2017

Aapne jo laser technique bataya hai bahut hi kamal ki hai lekin yeh to bahut mehnga hoga na isliye aap mujhe koi affordable technique btaiye

Palvi Joshi, Nov 02, 2017

Aapne jo lazer technique bataya hai wo kamal ka hain lekin main yeh puchna chahti hun ki kiya yeh future mai jaake kharab to nahin hoga?

Mubina Ahmad , Oct 28, 2017

Aapne jo laser technique wala article likha hai kamal ka likha hua hai lekin maine suna hai ki isse abhi to thik ho jayega lekin future mai ho sakta hai ki aapko isse future mai koi side effect ho jaaye kiya karna chahiye please batayen.

Karishma , Oct 26, 2017

Aapne jo lazer wale technology ke technique batayi hai wo bahut hi achchi hai aur saath hi saath affordable bhi hai lekin main yeh jaana chahti hun ki aage chal ke future mai koi gadbad to nahin hogi.

Rishika , Oct 24, 2017

Aapne jo lazer technique batayi hai wo bahut hi kamal ki hai aur saath hi affordable bhi hai lekin iske side effect bhi to honge kiya hain yeh batayen Sir

Moni Rajput , Oct 21, 2017

Mere chehre par bahut hi jayeda daag dhabe hain maine isko hatane ke liye kaafi cosmetics use kiya lekin result nahin mila meri friend ne mujhe laser technology ke bare mai bataya kiya ye sahi hai batsao